घर बैठे ऑनलाइन बनवा सकते हैं वोटर आईडी कार्ड, जानिए कैसे करें अप्लाई

घर बैठे ऑनलाइन बनवा सकते हैं वोटर आईडी कार्ड, जानिए कैसे करें अप्लाई

आज हम आपको एक ऐसा तरीका बताने जा रहे हैं जिसके इस्तेमाल से आप बिना एक रुपया खर्च किए घर बैठे अपना वोटर आईडी कार्ड बनवा सकते हैं। सबसे अच्छी बात यह है कि आपका वोटर आईडी कार्ड आपके घर पहुंचा दिया जाएगा। तो जानिए वोटर आईडी कार्ड ऑनलाइन बनाने की पूरी प्रक्रिया।

अगले साल यानी 2022 में देश के सबसे अधिक आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। सभी राजनीतिक दलों ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। चुनाव को लोकतंत्र का त्योहार माना जाता है और आम आदमी के वोट को हथियार भी कहा जाता है। लेकिन वोट डालने के कुछ नियम होते हैं। 18 वर्ष से अधिक आयु का व्यक्ति ही मतदान कर सकता है, लेकिन उसके लिए मतदाता पहचान पत्र होना आवश्यक है, जिसके लिए सरकारी कार्यालयों के चक्कर लगाने पड़ते हैं। किसी व्यक्ति को लोकतांत्रिक प्रक्रिया में भाग लेने के अलावा यह ऋण के लिए आवेदन करने से लेकर घर खरीदने तक हर चीज के लिए एक वैध पहचान प्रमाण के रूप में भी काम करता है।

आज हम आपको एक ऐसा तरीका बताने जा रहे हैं जिसके इस्तेमाल से आप बिना एक रुपया खर्च किए घर बैठे अपना वोटर आईडी कार्ड बनवा सकते हैं। सबसे अच्छी बात यह है कि आपका वोटर आईडी कार्ड आपके घर पहुंचा दिया जाएगा। तो जानिए वोटर आईडी कार्ड ऑनलाइन बनाने की पूरी प्रक्रिया।

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रीय आजीविका मिशन क्या है? इससे किसको लाभ मिलेगा, इसके लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

वोटर कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें?

अगर आपकी उम्र 18 साल या उससे ज्यादा है तो आप आसानी से वोटर आईडी के लिए अप्लाई कर सकते हैं। इसके लिए आपके पास बस मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी और कोई एड्रेस प्रूफ होना चाहिए। 

नई मतदाता पहचान पत्र की ऑनलाइन नामांकन प्रक्रिया बहुत सरल है। आपको बस भारत निर्वाचन आयोग (ईसीआई) के होमपेज, वोटर आईडी पंजीकरण की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके लिए आपको भारत निर्वाचन आयोग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर राष्ट्रीय मतदाता सेवा पोर्टल https://nvsp.in/ पर Register as a New Elector/Voter पर क्लिक करके  अपना रजिस्ट्रेशन कर फॉर्म भरना होगा।

वेबसाइट में मतदाता सूची से लेकर देश भर में आगामी चुनावों के लिए चुनाव कार्यक्रम तक, वह सब कुछ मिल सकता है जिसे आपको भारत में चुनाव प्रक्रिया के बारे में जानने की जरूरत हो सकती है। इसमें मतदाताओं के लिए दिशानिर्देशों की एक सूची और मतदान के लिए पंजीकरण करने के लिए विभिन्न आवेदन पत्र भी शामिल हैं। आप जिस सेवा का लाभ उठाना चाहते हैं उसके आधार पर वहां कई तरह के फॉर्म होते हैं। इनमें नाम परिवर्तन, भारत में रहने वाले नागरिकों के लिए मतदाता सूची में नाम शामिल करने के साथ-साथ विदेशों में रहने वालों और सशस्त्र बलों के सदस्यों, सरकारी सेवा में रहने वालों आदि के लिए अलग-अलग फॉर्म शामिल हैं। नए मतदाता आवेदन के लिए आपको फॉर्म 6 का चयन करना होगा।

नए मतदाता पहचान पत्र ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आवश्यक प्रक्रिया:

ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया में शामिल चरण इस प्रकार हैं:

चरण 1 - भारत निर्वाचन आयोग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।

चरण 2 - राष्ट्रीय मतदाता सेवा पोर्टल पर क्लिक करें।

चरण 3 - "नए मतदाता के पंजीकरण के लिए ऑनलाइन आवेदन करें" पर क्लिक करें।

चरण 4 - विवरण दर्ज करें और आवश्यक दस्तावेज अपलोड करें।

चरण 5 - "सबमिट करें" पर क्लिक करें।

इसे भी पढ़ें: वन सन, वन वर्ल्‍ड, वन ग्रिड क्‍या है? इससे क्या-क्या लाभ होंगे?

सबमिट करने के बाद आपको आपके द्वारा प्रदान किए गए ईमेल पते पर एक ईमेल प्राप्त होगा। इस ईमेल में एक व्यक्तिगत वोटर आईडी पेज का लिंक होगा। आप इस पृष्ठ के माध्यम से अपने मतदाता पहचान पत्र आवेदन को ट्रैक कर सकते हैं और आवेदन करने से एक महीने में अपना मतदाता पहचान पत्र प्राप्त कर सकते हैं।

मतदाता पहचान पत्र के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज:

मतदाता पहचान पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी:

1. एक पासपोर्ट साइज फोटो

2. पहचान प्रमाण- यह जन्म प्रमाण पत्र, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड या हाई स्कूल की मार्कशीट हो सकती है।

3. एड्रेस प्रूफ- यह राशन कार्ड, आपका पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस या उपयोगिता बिल (फोन या बिजली) हो सकता है।

मतदाता पहचान पत्र के लिए पात्रता:

मतदाता पहचान पत्र के लिए पात्रता इस प्रकार है:

1. आवेदक भारतीय नागरिक होना चाहिए।

2. आवेदक के पास स्थायी आवासीय पता होना चाहिए।

3. आवेदक की आयु कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए।

चुनाव कार्ड / मतदाता पहचान पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लाभ:

वोटर आईडी ऑनलाइन नामांकन के कई फायदे हैं। उनमें से कुछ इस प्रकार हैं:

ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया का सबसे बड़ा फायदा सहूलियत और आराम है। कुछ पात्र मतदाताओं को यह नहीं पता होता है कि उनका चुनावी कार्यालय कहाँ स्थित है या उन्हें अपने व्यस्त कार्यक्रमों की वजह से फॉर्म जमा करने का समय नहीं मिलता है। इस तरह से इस प्रक्रिया में आपको फॉर्म भरने के लिए अपने निर्वाचन क्षेत्र के निर्वाचन कार्यालय के चक्कर लगाने की आवश्यकता नहीं है। प्रक्रिया के ऑनलाइन होने से संभावित मतदाता इस असुविधा को दूर कर सकते हैं। वे अब संबंधित फॉर्म को डाउनलोड करने और अपने घरों में आराम से इसे भरने में कामयाब  हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: पीएम गति शक्ति योजना क्या है? इसका उद्देश्य क्या है? इससे किसको फायदा होगा?

चुनाव कार्ड/वोटर आईडी के लिए ऑनलाइन आवेदन करने का एक और फायदा यह है कि आप अपने वोटर आईडी स्टेटस को आसानी से ऑनलाइन ट्रैक कर सकते हैं। एक बार जब आप फॉर्म जमा कर देते हैं तो आपको अपने आवेदन की स्थिति के बारे में नियमित अपडेट मिलना शुरू हो जाता है।

जब आप ऑनलाइन आवेदन करते हैं तो आवेदन प्रक्रिया तेजी से आगे बढ़ती है। ऑनलाइन आवेदन करने का मतलब यह होगा कि आपकी मतदाता पहचान पत्र एक महीने के समय में आपके दरवाजे पर पहुंचा दिया जाएगा, जबकि नियमित आवेदन प्रक्रिया में अधिक समय लगता है।

- जे. पी. शुक्ला