खूबसूरत वादियों में पनपती सहर बांबा और करण देओल की लव स्टारी, जानें कैसी है डेब्यू फिल्म

खूबसूरत वादियों में पनपती सहर बांबा और करण देओल की लव स्टारी, जानें कैसी है डेब्यू फिल्म

फिल्म ''पल पल दिल के पास'' की कहानी काफी सिंपल सी है जिसमें एक वीडियो ब्लॉगर सहर सेठी (सहर बांबा) अपने ब्लॉग के लिए पर्वतारोही करण सेहगल (करण देओल) के साथ ट्रेकिंग पर निकलती है।

बॉलीवुड में 2018-2019 में कई स्टार किड्स ने डेब्यू किया है। सारा अली खान, मीजान जाफरी, जाह्नवी कपूर, ईशान खट्टर, अन्नया पांडे जैसे कई स्टार किड्स को बड़े डायरेक्टरों ने लॉन्च किया है। स्टार किड्ट की लिस्ट में अब सनी देओल के बेटे करण देओल भी शामिल हो गये हैं। आज बड़े पर्दे पर करण देओल की डेब्यू फिल्म 'पल पल दिल के पास' रिलीज हो गई है। करण देओल की डेब्यू फिल्म एक लव स्टोरी है जिसके निर्माता और निर्देशक खुद सनी देओल हैं। आपको बता दें कि सनी देओल ने भी बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुआत फिल्म 'बेताब' से की थी। सनी की ये फिल्म एक लव स्टोरी थी। ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट साबित हुई थी। पिता की तरह ही करण देओल ने भी अपने करियर की शुरूआत लव स्टोरी से की।

इसे भी पढ़ें: फिल्म ‘जोया फैक्टर’ के लिए लिया क्रिकेट की ट्रेनिंग: दुलकर सलमान

फिल्म की कहानी

फिल्म 'पल पल दिल के पास' की कहानी काफी सिंपल सी है जिसमें एक वीडियो ब्लॉगर सहर सेठी (सहर बांबा) अपने ब्लॉग के लिए पर्वतारोही करण सेहगल (करण देओल) के साथ ट्रेकिंग पर निकलती है। दोनों की मुलाकात काम के सिलसिले में होती है। ट्रेकिंग पर निकले सहर सेठी और करण सेहगल को धीरे-धीरे एक दूसरे से प्यार हो जाता है। फिल्म में लड़ाई झगड़ो से शुरू हुई दोनों की मुलाकात प्यार तक कैसे पहुंची है ये देखने लायक है। अब दोनों के प्यार की कहानी का क्या अंजाम होता है इसे देखने के लिए फिल्म देखनी पड़ेगी।

इसे भी पढ़ें: श्रद्धा कपूर ने दीपिका पादुकोण को किया रिप्लेस, रणबीर कपूर के साथ करेंगी रोमांस

फिल्म रिव्यू  

फिल्म की कहानी सिंपल है लेकिन फिल्म के वीजुअल काफी कमाल के है। फिल्म की कहानी को न सही लेकिन फिल्म की खूबसूरत लोकेशन को देखने के लिए आप फिल्म देख सकते हैं। फिल्म की सिनोमटॉग्रफी कमाल की है लेकिन फिल्म के एक्टर अपने किरदार को सही ढंग से नहीं निभा पाए। सहर बांबा वीडियो ब्लॉगर का किरदार निभा रही हैं लेकिन वह कही से भी करेक्टर से कमिटेड नहीं है। करण देओल ने ठीक-ठाक एक्टिंग की है लेकिन डायलॉग डिलिवरी में उन्हें सुधार करना होगा। जबकि सहर कैमरे के सामने कॉन्फिडेंट और प्रॉमिसिंग दिखती हैं। सहर इमोशनल सीन्स में अच्छी लगती हैं लेकिन उन्हें कॉमिडी के लिए अपनी टाइमिंग सुधारनी चाहिए। फिल्म में दोनों की केमिस्ट्री कहीं से भी अच्छी नहीं लग रही है। दोनों किरदार दर्शकों को प्यार की कहानी से कनेक्ट नहीं करवा सके लेकिन जबकि सहर कैमरे के सामने कॉन्फिडेंट और प्रॉमिसिंग दिखती हैं। सहर इमोशनल सीन्स में अच्छी लगती हैं लेकिन उन्हें कॉमिडी के लिए अपनी टाइमिंग सुधारनी चाहिए।