काली गाजर का सेवन करेगा इन बीमारियों को दूर

काली गाजर का सेवन करेगा इन बीमारियों को दूर

काली गाजर को आप चाहे कच्चा खाएं या हलवा बनाकर यह बहुत फायदेमंद होता है। यह आपके कोलेस्ट्रॉल लेवल को बढ़ने नहीं देता है। इसका जूस पीना भी लाभदायक है। रात को भोजन के समय आप काली गाजर का जूस पी सकते हैं।

सर्दियों में ढेर सारी सब्ज़ियां मिलती हैं, जो आपकी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। खासतौर पर गाजर, लेकिन क्या आप जानते हैं कि लाल गाजर के साथ ही काली गाजर भी सेहत के लिए बहुत अच्छी होती है और आपको कई बीमारियों से बचाती है। काली गाजर में एंटीऑक्सीडेंट की भरपूर मात्रा होती है सूजन खत्म करने में मददगार है। इसके अलावा इसमें फाइबर, पोटैशियम, विटामिन-ए, विटामिन-सी, मैंगनीज, विटामिन-बी जैसे कई पोषक तत्व होते हैं।

इसे भी पढ़ें: सेहत के लिए वरदान समान हैं बथुआ की पत्तियां, जानिए इसके जबरदस्त फायदे

काली गाजर के स्वास्थ्य लाभ

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, सर्दियों में इम्यून सिस्टम को मज़बूत बनाने और स्वस्थ रहने के लिए काली गाजर का सेवन ज़रूर करना चाहिए। इससे आपको कई फायदे होते हैं।

कोलेस्ट्राल लेवल नियंत्रित रहता है

काली गाजर को आप चाहे कच्चा खाएं या हलवा बनाकर यह बहुत फायदेमंद होता है। यह आपके कोलेस्ट्रॉल लेवल को बढ़ने नहीं देता है। इसका जूस पीना भी लाभदायक है। रात को भोजन के समय आप काली गाजर का जूस पी सकते हैं। यह आपके दिल का भी ख्याल रखता है। इसमें एंथोसायनिन नामक तत्व भरपूर मात्रा में होता है, जो दिल की बीमारियों के खतरे को कम करता है। इससे जुड़े एक अध्ययन के मुताबिक, रोजाना 0.2 मिलीग्राम एंथोसायनिन के सेवन से दिल की बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। 

ब्लड शुगर को कम करता है

काली गाजर में पाया जाने वाला एंथोसायनिन दिल का ख्याल रखने के साथ ही ब्लड शुगर को भी कम करने में मददगार है। विशेषज्ञों के मुताबिक, काली गाजर का जूस पीने से हाई ब्लड प्रेशर, हाई ब्लड शुगर और हृदय की मांसपेशियों में जकड़न की समस्या को दूर होती है।

कैंसर से लड़ने में मददगार

हेल्थ एक्सपर्टेस के अनुसार, काली गाजर में पाए जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट कैंसर जैसी घातक बीमारी से लड़ने में भी मदद करता है। कई रिसर्च के अनुसार, महिलाओं को काली गाजर का सेवन ज़रूर करना चाहिए, क्योंकि इससे ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बहुत हद तक कम हो जाता है। 

पाचन समस्याओं को करता है दूर

यदि आपका पाचन ठीक नहीं रहता है या आपको पेट से जुड़ी दूसरी समस्याएं हैं, तो काली गाजर को अपनी डायट में ज़रूर शामिल करे। विशेषज्ञों के मुताबिक, फाइबर से भरपूर यह गाजर पाचन तंत्र को दुरुस्त रखता है। और आपको कब्ज, अपच जैसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

इसे भी पढ़ें: जल्द घटाना है वज़न मोटापा कम करने के लिए पीएं करी पत्ते की चाय

आंखों की रोशनी बढ़ती है

आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए सिर्फ लाल ही नहीं काली गाजर का सेवन भी करें। यह आयरन से भरपूर होता है, जो आंखों की अच्छी सेहत के लिए ज़रूरी है। यदि किसी को चश्मा लगा है तो इसके नियमित सेवन से चश्मे का नंबर भी कम हो सकता और आंखों की रोशनी बढ़ती है।

चेहरे को चमकदार बनाता है

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, काली गाजर खून साफ करके ब्लड फ्लो को बेहतर बनाता है जिससे त्वचा पर निखार आता है और दाग-धब्बे व पिपंल्स की समस्या दूर होती है। खून साफ करने के लिए आप नियमित रूप से काली गाजर का जूस भी पी सकते हैं।

तो इस बार सर्दियों में काली गाजर का सलाद और हलवा ज़रूर खाइएगा।

- कंचन सिंह





डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।