तेजपत्ते के इन बेहतरीन लाभों के बारे में जानकर हैरान रह जाएंगे

तेजपत्ते के इन बेहतरीन लाभों के बारे में जानकर हैरान रह जाएंगे

मधुमेह रोगियों के लिए तेजपत्ता किसी वरदान से कम नहीं है। खासतौर से, टाइप 2 डायबिटीज से पीडि़त व्यक्ति में यह बैड कोलेस्टॉल को कम करके गुड कोलेस्टॉल को बढ़ाता है। साथ ही रक्त में शर्करा से स्तर को नियंत्रित करने में भी यह सहायक है।

विशिष्ट खुशबू व स्वाद के लिए अक्सर विभिन्न व्यजंनों में तेजपत्ते का प्रयोग किया जाता है। इसकी महक इतनी तेज होती है कि भोजन पकाने के बाद इसे निकाल दिया जाता है, फिर भी इसका स्वाद बरकरार रहता है। आपने भोजन में तो कई बार तेजपत्ते का इस्तेमाल किया होगा, लेकिन क्या आप इसके स्वास्थ्य लाभों से वाकिफ हैं। नहीं न, तो चलिए जानते हैं इसके बारे में−

कई तरह के पोषक तत्व

तेजपत्ते में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं, जैसे मैगनीज, मैग्नीशियम, आयरन, विटामिन ए, कार्ब्स, प्रोटीन व फाइबर आदि भी होता है। इन सभी पोषक तत्वों की मौजूदगी के कारण तेजपत्ता स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है। 

इसे भी पढ़ें: सौंदर्य के साथ−साथ सेहत का भी ख्याल रखता है केसर

करे मधुमेह का इलाज

मधुमेह रोगियों के लिए तेजपत्ता किसी वरदान से कम नहीं है। खासतौर से, टाइप 2 डायबिटीज से पीडि़त व्यक्ति में यह बैड कोलेस्टॉल को कम करके गुड कोलेस्टॉल को बढ़ाता है। साथ ही रक्त में शर्करा से स्तर को नियंत्रित करने में भी यह सहायक है।

लडे़ संक्रमण से 

कुछ अध्ययन यह बताते हैं कि तेजपत्ते के एंटीफंगल गुणों के कारण यह फंगल संक्रमण से लड़ने में काफी मददगार है, खासतौर से, कैंडिडा संक्रमण को दूर करने में यह काफी सहायक है। इसलिए अगर आप इसका सेवन करते हैं तो आप काफी हद तक संक्रमण से लड़ सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: प्रोटीन की कमी को दर्शाते हैं यह संकेत, पहचानिए इसे

दूर करे कैंसर 

तेजपत्ते में सिनोल नामक एक तत्व पाया जाता है, जो ल्यूकेमिया कैंसर सेल्स को दबाने में मदद करता है। इतना ही नहीं, यह स्तन कैंसर व कोलोन कैंसर को खत्म करने में भी प्रभावी तरीके से काम करता है।

इसका रखें ध्यान

यूं तो तेजपत्ता स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभदायक है, लेकिन कई बार इसके कारण कुछ नुकसान भी उठाने पड़ सकते हैं। इसलिए कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें। मसलन, गर्भवती व स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसके सेवन से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श अवश्य लेना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: दांत दर्द से परेशान हैं, तुरंत राहत चाहते हैं तो अपनाएं यह उपाय

इसके अतिरिक्त तेजपत्ते का सेवन आपके ब्लडशुगर को कम कर सकता है, जिसके कारण कुछ विपरीत परिणाम देखने को मिल सकते हैं। इसलिए अगर आप किसी तरह की दवाई ले रहे हैं तो एक बार डॉक्टर से अवश्य पूछें।

तेजपत्ता सेंटल नर्वस सिस्टम को भी धीमा कर देता है। ऐसे में अगर आपकी किसी तरह की सर्जरी होनी है तो सर्जरी से कम से कम से दो सप्ताह पहले तेजपत्ते का सेवन बिल्कुल बंद कर दें।

मिताली जैन





डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।