• कोरोना काल में खान-पान पर इस तरह दें विशेष ध्यान, करें यह एक्साइज

सिमरन सिंह May 28, 2021 15:05

कोरोना के दौरान शरीर काफी कमजोर हो जाता है, जिस वजह से थकावट और कमजोरी का ऐहसास रहता है। एक शोध के आधार पर संक्रमित रोगियों के लिए सही डाइट और एक्सरसाइज की टिप्स साझा की गई है।

कोरोना महामारी के दौरान खुद को संक्रमित होने से बचाने के साथ-साथ मानसिक और शारीरिक तौर पर स्वस्थ रहना एक बड़ी चुनौती है। कोरोना के संक्रमण में आने वाले लोगों के लिए भी फिर से सेहतमंद बनना एक लक्षण तक पहुंचने के जैसा हो चुका है। डॉक्टर्स की मानें तो जिंदा रहने के लिए जिस तरह से जल, वायु और भोजन की जरूरत होती है, ठीक उसी प्रकार इस महामारी में खुद को तंदुरुस्त और स्वस्थ रखने के लिए खानपान के साथ-साथ एक्सरसाइज भी जरूरी है। अच्छा पौष्टिक खान-पान संक्रमित और रिकवर हो चुके लोगों के लिए बेहद जरूरी है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना वैक्सीन से डरे नहीं, जानिए इससे संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी

दरअसल, कोरोना के दौरान शरीर काफी कमजोर हो जाता है, जिस वजह से थकावट और कमजोरी का एहसास रहता है। एक शोध के आधार पर संक्रमित रोगियों के लिए सही डाइट और एक्सरसाइज की टिप्स साझा की गई है। आइए आपको कोरोना के दौरान घर पर किसी तरह का खानपान, परहेज और एक्सरसाइज करनी चाहिए उसके बारे में बताते हैं...

क्या खाएं?

विशेषज्ञों के अनुसार कोरोना के समय जिन भोजनों में अच्छी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होता है वो शरीर के लिए काफी अच्छा रहता है। आप ओट्स जैसे साबुत अनाज को अपने डाइट में शामिल कर सकते हैं, इसमें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा ज्यादा होती है। इसके अलावा पनीर, सोया, चिकन, मछली और अंडे भी अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। हो सके तो सरसों, बादाम, अखरोट या जैतून से बने तेल का इस्तेमाल करके ही खाना बनाएं।  इस तरह के तेल से पका भोजन हमारी इम्यूनिटी के लिए अच्छा होता है। अपनी डाइट में ज्यादा से ज्यादा फल और सब्जियां भी शामिल करें।

अपनाएं ये डाइट चार्ट?

1. नाश्ता- 

सुबह 7 से 8 बजे के बीच अपना नाश्ता कर लें। इसमें आप बेसन चीला, ओट्स चीला, पोहा, उपमा, इडली या दो अंडा शामिल कर सकते हैं। साथ एक गिलास दूध का भी सेवन करें।

2. मिड मोर्निंग ब्रेकफास्ट- 

सुबह 11 बजे एक कोई भी सिजनल फ्रूट का सेवन करें। कुछ न समझे आए तो एक सेब का सेवन भी कर सकते हैं। 

3. लंच-

दोपहर का भोजन 1 से 2 बजे के बीच हो जाना चाहिए। इसमें आप मल्टीग्रेन रोटी, वेज पुलाव, दलिया, खिचड़ी का सेवन कर सकते हैं। इस दौरान ध्यान रखें कि अगर आप दो रोटी खाते हैं तो चार कटोरी सब्जी और एक कटोरी दही समेत सलाद भी जरूर होना चाहिए। अगर एक रोटी खाते हैं तो दो कटोरी सब्जी खाएं, साथ में दही और सलाद भी शामिल करें। खाने से पहले पानी पीएं, अगर आप खाने के बाद पानी पीते हैं तो खाने के एक घंटे बाद पीएं।

4. शाम के समय-

करीब 4 बजे वेजीटेबल सूप, चिकन सूप, स्प्राउट्स, बादाम के साथ चाय या कॉफी आदि का सेवन कर सकते हैं। 

5. डिनर-

शाम के 7 से 8 बजे तक अपना डिनर कर लें। डिनर में सलाद शामिल करें। विटामिन सी, डी, जिंक और मिनरल्स युक्त आहर शामिल करें।

6. रात को सोने से पहले-

रात को सोने से पहले एक गिलास हल्दी का दूध पीएं। इससे आपको कई तरह से फायदा होते हैं। 

7. आठ घंटे की नींद करें पूरी-

अच्छे खानपान के साथ अच्छी नींद लेना भी जरूरी है। इसलिए करीब 10 बजे तक आप सो जाएं। ध्यान रखें कि सोने से 1 घंटे पहले फोन या लेपटॉप का इस्तेमाल न करें।

इसे भी पढ़ें: कोरोना महामारी के बीच हेल्दी फूड खाने से मिलते हैं यह बेमिसाल लाभ

इन चीजों से करें परहेज- 

कोरोना के समय सही खानपान के साथ इस बात का भी ख्याल रखें कि कुछ चीजों का परहेज भी करना है। दरअसल, कुछ ऐसी चीजें भी होती हैं जो हमारी इम्यून सिस्टम को कमजोर करती हैं। इसलिए पैकेड फूड, जंक फूड, मसालेदार खाना, तलाभुना खाना, कोल्ड या मीठी ड्रिंक्स का सेवन न करें। इस तरह के खाने से आपकी सेहत पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। 

इन 3 एक्सरसाइज को अपनाएं

जंप स्क्वाट 

एक्सरसाइज में जंप स्क्वाट को काफी अच्छा माना जाता है। ये पूरे शरीर के लिए वर्कआउट होता है। इसमें पैर, जांघ समेत पूरे शरीर के मसल्स टाइट होते हैं। इसे अगर आप रोजाना अपनाएंगे तो आपको खुद असर नजर आने लगेगा। इसे करने के लिए जमीन पर सीधा खड़े होएं और पैरों को कांधे की चौड़ाई में चौड़ा करते हुए ऐसे बैठने की कोशिश करें मानों कुर्सी पर बैठे हुए हो। इस तरह की पॉजिशन में रूक जाएं और फिर जब उठे तो पैरों पर जोर लगाते हुए उछलें। इस दौरान अपनी बाजुओं को नीचें की तरफ झुलाते हुए अपने पूरे शरीर को खोल लें।

इसे भी पढ़ें: जानिए कब और कैसे कोरोना पीड़ित व्यक्ति को पड़ती है ऑक्सीजन की जरूरत

लेटरल लंज 

लेटरल लंज एक्सरसाइज करने से आपका निचला हिस्सा काम करता है। इसे रोजाना करने पर आपकी जांघ, पीठ और पैर मजबूत होते हैं। इसे बेहद आसानी से घर में किया जा सकता है। इस एक्सरसाइज को करने के लिए जमीन पर सीधा खड़े हो जाएं, अब अपना लेफ्ट पैर तिरछे पीठ और निचले लेफ्ट घुटने के पीछे ले जाने का प्रयास करते हुए झुंके और कुछ सेकेंड के लिए ऐसी स्थिति में रुकें रहें। इसके बाद सीधे खड़े होकर दूसरे पैर यानि राइट पैर के साथ भी इस तरह करें।

डॉल्फिन फोरआर्म प्लैंक 

डॉल्फिन फोरआर्म प्लैंक एक बहुत अच्छी एक्सरसाइज है। इससे शरीर के मसल्स मजबूत होते हैं। ये हाथों के दर्द को भी दूर करने के लिए अच्छी एक्सरसाइज है। इसके अलावा तनाव को भी दूर किया जा सकता है। इसे करने के लिए मैट पर अपनी कोहनियों के बल पर पुशअप्स की स्थिति में लेट जाएं। अब कूल्हे को ऊपर की तरफ उठाएं, इस तरह से वी शेप में आते हुए कुछ सेकेंड के लिए रुके रहें और फिर वापस पहले जैसी स्थिति में आएं। शुरुआत में आपको इसे करने में थोड़ी दिक्कत हो सकती है, इसलिए इसे धीरे-धीरे ही करें।

सुबह एक्सरसाइज करने के फायदे

- भूख बढ़ती है

- बेहतर नींद आती है

- पूरे दिन शरीर में ऊर्जा बनी रहती है।

- कार्य में मन लगता है।

- सुबह की धूप में व्यायाम करने से वीटामीन डी मिलता है। 

शाम को एक्सरसाइज करने के फायदे

- तनाव दूर होता है। 

- ऊर्जा बचती है।

- मन शांत रहता है।

- सहनशक्ति बढ़ती है।

- कब एक्सरसाइज नहीं करनी चाहिए

- खाना खाने के तुरंत बाद एक्सरसाइज न करें

- रात में सोने से पहले एक्सरसाइज न करें

- शरीर में दर्द या बुखार होने पर एक्सरसाइज करने से बचें

- नींद पूरी न हुई हो तो सुबह जबरदस्ती उठकर एक्सरसाइज न करें

- पंखे के नीचे या सामने एक्सरसाइज न करें

- सिमरन सिंह