स्लीप एप्निया को ना लें हल्के में, करें यह इलाज

स्लीप एप्निया को ना लें हल्के में, करें यह इलाज

नियमित व्यायाम आपके ऊर्जा स्तर को बढ़ा सकता है, आपके दिल को मजबूत कर सकता है, और स्लीप एपनिया में सुधार कर सकता है। योग विशेष रूप से आपकी श्वसन शक्ति में सुधार कर सकता है और ऑक्सीजन प्रवाह को प्रोत्साहित कर सकता है।

बेहतर स्वास्थ्य के लिए अच्छी नींद लेना बेहद आवश्यक है। लेकिन ऐसे बहुत से लोग हैं, जिन्हें कई तरह की स्लीप प्रॉब्लम्स का सामना करना पड़ता है। इन्हीं में से एक है स्लीप एप्निया। स्लीप एप्निया एक ऐसी स्थिति है, जिसमें व्यक्ति सोते समय बेहद कम समय के लिए सांस लेना बंद कर देता है। स्लीप एप्निया वाले लोग पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं लेते हैं और इसलिए वह अक्सर हांफकर उठ जाते हैं। कई बार स्लीप एप्निया खर्राटों की तरह भी लग सकता है। हालांकि इसका सही समय पर उपचार करना बेहद जरूरी है, अन्यथा व्यक्ति को कई तरह की शारीरिक व मानसिक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में आप कुछ आसान उपायों के जरिए अपनी स्थिति को संभाल सकते हैं−

इसे भी पढ़ें: चाहिए अच्छी नींद तो अपनाएं यह आसान घरेलू उपाय

मेंटेन करें हेल्दी वेट

स्लीप एप्निया से ग्रस्त व्यक्ति को एक हेल्दी वेट मेंटेंन करना चाहिए। मोटापा, विशेष रूप से शरीर के ऊपरी भाग में वायुमार्ग की बाधा का कारण बनता है। जिसके कारण सोते समय आपकी समस्या बढ़ सकती है। वहीं हेल्दी वेट मेंटेन करने से आपके वायुमार्ग को क्लीयर रहने में मदद मिलती है। जिससे स्लीप एप्निया के लक्षण कम होते हैं।

करें योगाभ्यास

नियमित व्यायाम आपके ऊर्जा स्तर को बढ़ा सकता है, आपके दिल को मजबूत कर सकता है, और स्लीप एपनिया में सुधार कर सकता है। योग विशेष रूप से आपकी श्वसन शक्ति में सुधार कर सकता है और ऑक्सीजन प्रवाह को प्रोत्साहित कर सकता है। स्लीप एपनिया आपके रक्त में ऑक्सीजन की कमी के साथ जुड़ा हुआ है। वहीं योगाभ्यास से आपके ऑक्सीजन के स्तर में सुधार होता है और आपको नींद संबंधी कई समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

इसे भी पढ़ें: याददाश्त सुधारने के लिए लेते रहें झपकी, होते हैं कई चौंका देने वाले फायदे

बदलें अपनी पोजिशन

सोते समय एक छोटा सा परिवर्तन आपकी नींद की स्थिति को बदलकर स्लीप एप्निया के लक्षणों को कम कर सकता है। मसलन, अगर आप सोते समय पीठ के बल सोते हैं तो इससे आपकी समस्या और भी अधिक बढ़ सकती है। वहीं एक साइड होकर सोने से आपको आराम मिल सकता है, हालांकि हर व्यक्ति के लिए स्लीप पोजिशन अलग हो सकती है। इसलिए आप भी अपनी समस्या से आराम पाने के लिए अपनी स्लीप पोजिशन को बदलकर देखें कि आपको किसमें सबसे अधिक आराम मिलता है।

ह्यूमिडिफायर का करें प्रयोग

अमूमन शुष्क हवा आपकी श्वसन प्रणाली को परेशान कर सकता है और इससे आपकी स्लीप एप्निया की समस्या बढ़ सकती है। वहीं ह्यूमिडिफायर एक ऐसा उपकरण है जो हवा में नमी जोड़ते हैं। ह्यूमिडिफायर का उपयोग करने से आपका वायुमार्ग खुल सकता है और ब्रीदिंग क्लीयर होती है।

मिताली जैन





डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।