डाइट में शामिल करें यह चीजें तो दूर होगी विटामिन बी12 की कमी

डाइट में शामिल करें यह चीजें तो दूर होगी विटामिन बी12 की कमी

डाइट और न्यूटिशन एक्सपर्ट के अनुसार, विटामिन बी 12 वैसे तो नॉन वेज फूड में अधिक पाया जाता है। लेकिन अगर आप वेजिटेरियन हैं तो ऐसे में आप फोर्टिफाइड सेरल्स को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें।

विटामिन बी 12 आपके शरीर के लिए बहुत सारी चीजें करता है। उदाहरण के लिए, यह आपके डीएनए और आपके लाल रक्त कोशिकाओं को बनाने में मदद करता है। विटामिन बी 12 एक आवश्यक पोषक तत्व है जिसे आपका शरीर अपने दम पर नहीं बना सकता है, इसलिए आपको इसे अपने आहार या पूरक आहार से प्राप्त करना होगा। इस पोषक तत्व की खास बात यह होती है कि आपका शरीर विटामिन बी 12 को लंबे समय तक संग्रहीत नहीं करता है। इसलिए आपको नियमित रूप से ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए, जो विटामिन बी12 से पैक हों ताकि आपके शरीर में इस पोषक तत्व की कमी ना हो। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में−

इसे भी पढ़ें: इन वजहों से होता है फैटी लिवर, नहीं संभले तो होगी बड़ी दिक्कत

सार्डिन

डाइटीशियन के अनुसार, विटामिन बी 12 की कमी को दूर करने के लिए सार्डिन का सेवन किया जा सकता है। सार्डिन छोटी समुद्री मछली हैं। सार्डिन सुपर पौष्टिक होते हैं क्योंकि इनमें लगभग हर एक पोषक तत्व अच्छी मात्रा में होता है। इसके सेवन से आपको विटामिन बी12 के अलावा ओमेगा−3 फैटी एसिड का भी एक बेहतरीन स्रोत है।

बीफ

बीफ विटामिन बी12 का एक उत्कृष्ट स्रोत है। करीबन 100 ग्राम बीफ में लगभग 5.9 एमसीजी विटामिन बी 12 होता है। इसे फ्राई करने की जगह ग्रिल या रोस्ट करना अधिक बेहतर माना जाता है।

इसे भी पढ़ें: सावधान! कच्चा प्याज खाने से होती हैं ये बीमारियाँ, जानकर चौंक जाएंगे आप

फोर्टिफाइड सेरल्स

डाइट और न्यूटिशन एक्सपर्ट के अनुसार, विटामिन बी 12 वैसे तो नॉन वेज फूड में अधिक पाया जाता है। लेकिन अगर आप वेजिटेरियन हैं तो ऐसे में आप फोर्टिफाइड सेरल्स को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। फोर्टिफाइड सेरल्स विटामिन बी का एक महत्वपूर्ण स्रोत है, खासतौर से विटामिन बी12 की कमी को दूर करने के लिए इसका सेवन जरूर किया जाना चाहिए। आपको बता दें कि फूड फोर्टिफिकेशन एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसके जरिए भोजन में उन पोषक तत्वों को शामिल किया जाता है, जो मूल रूप से उसमें शामिल नहीं होते हैं।

टूना

हेल्थ एक्सपर्ट बताते हैं कि टूना एक आम तौर पर खाई जाने वाली मछली है और प्रोटीन, विटामिन और खनिजों सहित पोषक तत्वों का बढि़या स्रोत है। टूना में विटामिन बी 12 की उच्च सांद्रता होती है, विशेष रूप से त्वचा के ठीक नीचे की मांसपेशियों में, जिन्हें डार्क मसल्स के रूप में भी जाना जाता है। इसके अलावा, इसमें लीन प्रोटीन, फास्फोरस, सेलेनियम और विटामिन ए और बी 3 की एक अच्छी मात्रा पाई जाती है।

- मिताली जैन





डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।