Heart Failure Awareness Month 2022: मुठ्ठी जितने दिल का ख्याल रखना है बेहद जरुरी, इन टिप्स से मिलेगी मदद

Heart
Prabhasakshi
एकता । May 19, 2022 4:50PM
गलत खानपान की आदतों और अनहेल्दी लाइफस्टाइल की वजह से आज के समय में हार्ट फेलियर (Heart Failure) की समस्या बेहद आम हो गयी है। ज्यादातर लोगों को इस समस्या की कोई ख़ास जानकारी नहीं होती। इसलिए लोगों को इस मुद्दे के प्रति जागरूक करने के लिए हर साल दिल की विफलता जागरूकता माह मनाया जाता है।

मुठ्ठी के आकर जितना हमारा दिल (Heart), हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण भाग है। महत्वपूर्ण भाग होने की वजह से दिल का ध्यान रखना जरुरी हो जाता है। लेकिन अगर आप किसी तरह कि दिल की बीमारी से पीड़ित हैं तो दिल की देखभाल करना और भी ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाता है। गलत खानपान की आदतों और अनहेल्दी लाइफस्टाइल की वजह से आज के समय में हार्ट फेलियर (Heart Failure) की समस्या बेहद आम हो गयी है। ज्यादातर लोगों को इस समस्या की कोई ख़ास जानकारी नहीं होती। इसलिए लोगों को इस मुद्दे के प्रति जागरूक करने के लिए हर साल दिल की विफलता जागरूकता माह (Heart Failure Awareness Month in 2022) मनाया जाता है। दिल की विफलता जागरूकता माह के दौरान दिल की इस बीमारी से पीड़ित लोगों को अच्छी और हेल्दी जीने के लिए आसान सलाह भी दी जाती हैं। आपको बता दें कि हार्ट फेलियर एक गंभीर बीमारी है और इसे सही उपचार और देखभाल के साथ नियंत्रित किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें: Men's Health: इस फल का सेवन करने से बेहतर होगा पुरुषों का यौन स्वास्थ्य, इन समस्याओं से मिलेगी राहत

अपोलो स्पेक्ट्रा अस्पताल, हैदराबाद के वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ के शरत चंद्र ने हिंदुस्तान टाइम्स से बात करते हुए बताया कि भारत में, हार्ट फेलियर एक बढ़ती हुई समस्या है। मधुमेह, उच्च रक्तचाप, क्रोनिक किडनी रोग और दिल का दौरा इस समस्या का प्रमुख कारण है। आज के समय में युवा इस समस्या से पीड़ित होने लगे हैं। इन समस्याओं को रोकने के लिए, हमें अपनी जीवन शैली में सुधार, नियमित व्यायाम, धूम्रपान और शराब का सेवन सीमित करने की आवश्यकता है। हार्ट फेलियर के कई उपचार है और इससे रोगियों को लाभ भी हो रहा है।

इसे भी पढ़ें: गर्मी की वजह से बढ़ रहा हीट स्ट्रोक का खतरा, दिमाग पर भी पड़ता है बुरा असर, ये लक्षण दिखते ही तुरंत डॉक्टर के पास जाएं

हार्ट फेलियर से बचने के लिए अपनाए यह टिप्स

- नमक का ज्यादा सेवन करने से हार्ट फेलियर का खतरा बढ़ जाता है। नमक का ज्यादा सेवन करने से शरीर में अतिरिक्त तरल पदार्थ का निर्माण होने लगता है। इसकी वजह से हार्ट फेलियर की बीमारी गंभीर होने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए कम नमक वाली या बिना नमक वाली चीजों का सेवन करें।

- जरूरत से ज्यादा तरल पदार्थों का सेवन करने से भी हार्ट फेलियर का खतरा बढ़ जाता है। विशेषज्ञ चाय, जूस, सूप, तरबूज और आइसक्रीम जैसे उच्च पानी वाले खाद्य पदार्थों का सीमित मात्रा में सेवन करने की सलाह देते हैं।

- अगर आप हार्ट फेलियर की दवाइयाँ ले रहे हैं तो उन्हें बिना चुके लेते रहें और अपने हृदय रोग विशेषज्ञ के साथ टच में रहें। अपना नियमित चेकअप करवाते रहे और अगर शरीर में कोई असामान्य लक्षण दिखें तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएँ।

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

अन्य न्यूज़