लोअर बैक में दर्द से रहते हैं परेशान तो नियमित रूप से करें यह योगासन

लोअर बैक में दर्द से रहते हैं परेशान तो नियमित रूप से करें यह योगासन

पवनमुक्तासन आपको ना सिर्फ पेट में गैस आदि समस्या से राहत दिलाता है, बल्कि कमर दर्द को दूर करने के लिए बेहद प्रभावी माना गया है। योगागुरू कहते हैं कि इसके लिए आप मैट बिछाकर पीठ के बल लेट जाएं। अब आप अपने दोनों पैरों को मोड़ लें और हाथों की मदद से उसे होल्ड करें।

आज के समय में कमर में दर्द की समस्या बेहद आम होती जा रही है। खासतौर से, जब से वर्क फ्रॉम होम शुरू हुआ है, तब से लंबे समय तक लैपटॉप पर बैठने या फिर सही बॉडी पॉश्चर ना होने के कारण यह कमर दर्द की समस्या अधिक बढ़ने लगी है। वैसे तो इसे बेहद आम दर्द समझकर नजरअंदाज कर दिया जाता है, लेकिन वास्तव में यह आपके लिए काफी परेशानी भरा हो सकता है। अगर आप दर्द को दूर करने के लिए दवाई लेने का विचार बना रहे हैं तो बेहतर होगा कि आप इसकी जगह योगासनों का सहारा लें। तो चलिए आज हम आपको कुछ योगासनों के बारे में बता रहे हैं, जो लोअर बैक पेन को दूर करने में काफी मदद करते हैं−

इसे भी पढ़ें: मल्टीविटामिन नहीं, इन फूड्स के जरिए शरीर को दें पर्याप्त पोषण

पवनमुक्तासन

यह आसन आपको ना सिर्फ पेट में गैस आदि समस्या से राहत दिलाता है, बल्कि कमर दर्द को दूर करने के लिए बेहद प्रभावी माना गया है। योगागुरू कहते हैं कि इसके लिए आप मैट बिछाकर पीठ के बल लेट जाएं। अब आप अपने दोनों पैरों को मोड़ लें और हाथों की मदद से उसे होल्ड करें। साथ ही धीरे−धीरे गर्दन को उपर उठाएं और घुटने को नाक से छूने की कोशिश करें। कुछ देर इस स्थिति में रूकें और फिर वापिस सामान्य अवस्था में लौट आएं।

इसे भी पढ़ें: आर्थराइटिस होने पर नजर आते हैं यह लक्षण, पहचानिए कुछ इस तरह

मर्कटासन

योगागुरू के अनुसार, इस आसन का अभ्यास करने से कमर दर्द में पहले दिन से राहत महसूस होने लगती है। इतना ही नहीं, इस आसन का अभ्यास करने से आपके पेट की चर्बी भी कम होती है। मर्कटासन का अभ्यास करने के लिए आप सबसे पहले मैट पर पीठ के बल लेट जाएं। अब आप अपने दोनों पैरों को घुटने से मोड़ें और दोनों हाथों को सीधा फैला लें। ध्यान रखें कि आपकी हथेलियां खुली हों और आकाश की तरफ हों। इसके बाद आप अपने पैरों को दाईं तरफ मोड़ें और गर्दन को बाईं तरफ ले जाएं। इससे आपको अपनी कमर में एक टि्वस्ट महसूस होगा। अब आप पैरों को बाईं तरफ मोड़ें और गर्दन को दाईं तरफ ले जाएं। यह एक ऐसा आसन है, जो कमर दर्द में रामबाण की तरह काम करता है।

नोटः किसी भी आसन का अभ्यास करने से पहले एक बार विशेषज्ञ की सलाह लें। साथ ही योगागुरू की सलाह पर भी आसन का अभ्यास शुरू करें।

मिताली जैन





डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।