रोजाना नाभि पर शहद लगाने से होते हैं कई बेहतरीन फायदे, दूर होंगी ये समस्याएं

रोजाना नाभि पर शहद लगाने से होते हैं कई बेहतरीन फायदे, दूर होंगी ये समस्याएं

आयुर्वेद के अनुसार शहद में पाए जाने वाले औषधीय गुण कई बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं। शहद के इस्तेमाल से कई स्किन समस्याओं से छुटकारा मिलता है और त्वचा चमकदार बनती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि नाभि पर शहद लगाने से भी हमारी सेहत को कई फायदे होते हैं।

स्वास्थ्य और सुंदरता के लिए शहद का इस्तेमाल प्राचीन काल से होता चला आ रहा है। आयुर्वेद में शहद का इस्तेमाल औषधि की तरह किया जाता है। आयुर्वेद के अनुसार शहद में पाए जाने वाले औषधीय गुण कई बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं। शहद के इस्तेमाल से कई स्किन समस्याओं से छुटकारा मिलता है और त्वचा चमकदार बनती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि नाभि पर शहद लगाने से भी हमारी सेहत को कई फायदे होते हैं। आज के इस लेख में हम आपको नाभि पर शहद लगाने के फायदे बताने जा रहे हैं - 

इसे भी पढ़ें: हड्डियों को बनाना चाहते हैं मजबूत, तो करें यह आसान एक्सरसाइज

मुंहासों से छुटकारा 

शहद में एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती हैं जिससे इंफेक्शन से बचाव होता है। नाभि पर शहद लगाने से मुहांसों की समस्या भी दूर होती है। अगर आपको मुँहासे हैं तो रात में सोने से पहले नाभि पर शहद लगाएं। कुछ ही दिनों में मुंहासों से छुटकारा मिलेगा। 


दूर होती है ड्राई स्किन की समस्या

नाभी पर शहद लगाने से स्किन संबंधी समस्याओं से छुटकारा मिलता है। इससे ड्राई स्किन की समस्या दूर होती है, शहद में मॉइस्चराइजिंग गुण होते हैं जिससे त्वचा मुलायम बनती है।

कब्ज की समस्या से राहत 

अगर आप कब्ज की समस्या से परेशान हैं तो इसके लिए अपनी नाभि पर थोड़ा सा शहद लगा सकते हैं। इसके अलावा आप रात को सोने से पहले दूध में शहद मिलाकर भी इसका सेवन कर सकते हैं। इससे आपको कब्ज की समस्या से छुटकारा मिलेगा।

इसे भी पढ़ें: फेफड़ों के लिए जहर के समान हैं ये 5 चीज़ें, आज ही बना लें दूरी वरना हो सकती है जानलेवा बीमारियाँ

इंफेक्शन से बचाव

शहद में एंटी बैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण पाए जाते हैं। नाभि पर शहद लगाने से इंफेक्शन से बचाव होता है। इसके अलावा शहद में अदरक का रस मिलाकर नाभि पर लगाने से सर्दी-जुखाम ठीक हो सकता है।


पाचन तंत्र मजबूत होता है  

अदरक के रस में शहद मिलाकर नाभि पर लगाने से पाचन तंत्र मजबूत होता है। इससे अपच, पेट दर्द और मरोड़ जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

- प्रिया मिश्रा





डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।