कॉफी में मक्खन मिलाकर पिया है कभी? फायदे जानकर दंग रह जाएंगे आप

कॉफी में मक्खन मिलाकर पिया है कभी? फायदे जानकर दंग रह जाएंगे आप

कॉफी पीने के कई फायदे होते हैं, जैसे इससे नींद और सुस्ती दूर होती है और ये मूड अच्छा बनाने में भी मदद करती है। लेकिन अगर कॉफी में बटर मिलाकर पिया जाए तो यह फायदे दोगुने हो जाते हैं।

अधिकतर लोग अपने दिन की शुरुआत सुबह चाय-कॉफी से करते हैं। कॉफी पीने के कई फायदे होते हैं, जैसे इससे नींद और सुस्ती दूर होती है और ये मूड अच्छा बनाने में भी मदद करती है। लेकिन अगर कॉफी में बटर मिलाकर पिया जाए तो यह फायदे दोगुने हो जाते हैं। आज के इस लेख में हम आपको कॉफी में बटर मिलाकर पीने के फायदे बताएंगे -

इसे भी पढ़ें: एक्सरसाइज करते हुए अक्सर लोग कर बैठते हैं यह चार गलतियां

पेट के लिए फायदेमंद

कॉफी में बटर मिलाकर पीना पेट के लिए फायदेमंद माना जाता है। कॉफी गट बैक्टीरिया को बेहतर बनाकर आंतों की सफाई करने में मदद करती है। कॉफी में बटर मिलाकर पीने से कब्ज या गैस जैसी पेट संबंधी समस्याओं में लाभ होता है। 


बैड कोलेस्ट्रॉल कम करे 

कॉफी में मक्खन मिलाकर पीना हमारे दिल के स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है। कॉफी में बटर मिलाकर पीने से कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद मिलती है। कॉफी में मौजूद कैफीन शरीर में जमा अधिक फैट को कम करता है जिससे वजन कम करने के साथ-साथ बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद मिलती है।

वेट लॉस में फायदेमंद 

जो लोग वेट लॉस करना चाहते हैं उन्हें कॉफी में मक्खन मिलाकर पीने से फायदा हो सकता है। कॉफी में मक्खन मिलाकर पीने से वजन को कम करने में मदद मिलती है। खासतौर पर फ्रेश मक्खन को कॉफी में मिलाकर पीने से मोटापा कम करने में मदद मिलती है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना बना रहा है नपुंसक? रिकवर होने के बाद युवक के पेनिस की लंबाई 1.5 इंच हुई कम

एनर्जी बूस्टर 

कॉफी में बटर मिलाकर पीने से शरीर को एनर्जी मिलती है। जब हम कॉफी में बटर मिलाते हैं तो इससे कीटोंस बनते हैं जो शरीर को ऊर्जा देते हैं। इससे आपको दिनभर के कामों के लिए एनर्जी मिलती है।


दिमाग शांत करे 

कॉफी में बटर मिलाकर पीने से दिमाग शांत होता है और उसे बेहतर ढंग से कार्य करने में मदद मिलती है। इससे डिप्रेशन और हाई बीपी जैसी बीमारियों का जोखिम कम होता है। कॉफी में मौजूद कैफीन शरीर में डोपामाइन और सेरोटोनिन की मात्रा को बढ़ाते हैं जिससे मूड अच्छा करने में मदद मिलती है।

- प्रिया मिश्रा





डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।