कर रहे हैं बच्चे की प्लानिंग तो इस समय बनाएं संबंध, जानें कंसीव करने का सबसे अच्छा मौसम

कर रहे हैं बच्चे की प्लानिंग तो इस समय बनाएं संबंध, जानें कंसीव करने का सबसे अच्छा मौसम
unsplah

यदि आप बहुत कोशिशों के बाद भी प्रेगनेंट नहीं हो पा रही हैं तो निराश होने की ज़रुरत नहीं हैं। इसके लिए आपको अपनी सेहत और खानपान पर थोड़ा सा ध्यान देने की जरूरत है। इसके अलावा यह भी बहुत जरुरी है कि कंसीव करने के लिए आप सही समय पर सेक्स कर रही हैं।

शादी के बाद माँ बनना हर महिला का सपना होता है। कुछ महिलाएं बिना किसी परेशानी के बहुत जल्दी कंसीव कर लेती हैं, लेकिन कई  महिलाएं बहुत कोशिशों के बाद भी कंसीव नहीं कर पाती हैं। उन्हें लगने लगता है कि उनका माँ बनने का सपना शायद अधूरा ही रह जाएगा। लेकिन यदि आप बहुत कोशिशों के बाद भी प्रेगनेंट नहीं हो पा रही हैं तो निराश होने की ज़रुरत नहीं हैं। इसके लिए आपको अपनी सेहत और खानपान पर थोड़ा सा ध्यान देने की जरूरत है। इसके अलावा यह भी बहुत जरुरी है कि कंसीव करने के लिए आप सही समय पर सेक्स कर रही हैं। आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे के कि अगर आप कंसीव नहीं कर पा रही हैं तो आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे कि कंसीव करने के लिए किस समय सेक्स करना समय सबसे अच्छा माना जाता है - 

इसे भी पढ़ें: बच्चा प्लान कर रही हैं तो भरपूर आनंद के साथ जल्दी प्रेग्नेंट होने में मदद करेंगे यह टिप्स

सेक्स करने का सही मौसम

क्या आप जानते हैं कि मौसम का हमारे मानसिक ही नहीं बल्कि शारीरिक रूप से भी प्रभाव होता है। एक शोध में पाया गया है कि यदि कोई दंपत्ति सर्दी और वसंत के मौसम में शारीरिक संबंध बनाते हैं तो गर्भधारण करने की संभावना ज़्यादा होती है। अन्य मौसमों की तुलना में वसंत और सर्दी का मौसम गर्भधारण करने के लिए अच्छा माना जाता है। इन दोनों ऋतुओं में शारीरिक संबंध बनाने का महत्वपूर्ण कारण यह भी देखा गया है कि इस समय पुरुषों के शुक्राणु अधिक स्वस्थ होते हैं और उनकी गति भी अधिक होती है। इजराइल की बेन गुरियन यूनिवर्सिटी में किये गए इस शोध के दौरान छह हजार से अधिक पुरुषों के शुक्राणुओं की जाँच की गयी। इसमें यह पाया गया कि शुक्राणु सर्दियों और वसंत के मौसम भी अधिक सक्रिय और स्वस्थ होते हैं। शोधकर्ताओं ने पाया कि वसंत के बाद शुक्राणुओं की सक्रियता और गुणवत्ता में कमी आने लगती है। इसके साथ ही सर्दियों और वसंत के बाद शुक्राणुओं की संख्या भी कम होने लगती है।

इसे भी पढ़ें: संबंध बनाते वक़्त लंबे समय तक रहना चाहते हैं एक्टिव तो आज से ही शुरू कर दें यह एक्सरसाइज

ओव्यूलेशन के समय

गर्भधारण करने के लिए महिलाओं को अपने मासिक धर्म के चक्र का भी ध्यान रखना चाहिए। ऑव्यूलेशन के दिनों में प्रेगनेंट होने के चांस सबसे ज़्यादा होते हैं। जब फीमेल एग फैलोपियन ट्यूब से रिलीज़ होता है तब उसका जीवनकाल 12-24 घंटा का होता है। अगर इस समय इंटरकोर्स किया जाए तो फर्टीलिज़ेशन का चांस ज़्यादा होता है जिससे  प्रेगनेंट हो सकती है। इसलिए यह बेहद ज़रूरी है कि आपको अपनी पीरियड साइकल बारे में जानकारी हो जिससे आप जान सकें कि आप किन दिनों में ऑव्यूलेट करेंगी। आजकल बाजार में ऑव्यूलेशन किट भी मिलती है जिससे आप कैलकुलेट कर सकती हैं कि आप किन दिनों में ऑव्यूलेट करेंगी।  


सुबह का समय

रिपोर्ट्स के मुताबिक कंसीव करने के लिए मॉर्निंग सेक्स करना अच्छा होता है। दरअसल, पुरूषों का स्पर्म काउंट सुबह के समय सबसे ज़्यादा होता है इसलिए मॉर्निंग में सेक्स करने से प्रेगनेंसी के चांसेज़ बढ़ जाते हैं।

- प्रिया मिश्रा 





डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।