जल्दी कंसीव करने में मिलेगी मदद, जानें कैसे कैलकुलेट करें ओवुलेशन टाइम

जल्दी कंसीव करने में मिलेगी मदद, जानें कैसे कैलकुलेट करें ओवुलेशन टाइम

यदि कोई महिला गर्भ धारण करना चाहती है तो ओव्यूलेशन से पांच दिन पहले या ओव्यूलेशन के दिन सेक्स करना चाहिए। इस दौरान सेक्स करने से प्रेगनेंट होने की संभावना सबसे अधिक होती है। ओव्यूलेशन के 12-24 घंटे बाद एक महिला उस मासिक धर्म के दौरान गर्भवती नहीं हो पाती है क्योंकि अंडा फैलोपियन ट्यूब में नहीं होता है।

यदि आप माँ बनना चाहती हैं या इसके लिए प्रयास कर रही हैं तो आपको इस बारे में जानकारी होनी चाहिए कि किन दिनों में गर्भ धारण करने की संभावना सबसे अधिक होती है। एक महिला के मासिक चक्र के दौरान कुछ ऐसे दिन होते हैं जब गर्भधारण करने की संभावना सबसे अधिक होती है। इस अवधि को ओवुलेशन पीरियड कहा जाता है।

इसे भी पढ़ें: सेहतमंद रहने के लिए डायबिटीज के रोगी इस तरह बनाएं आहार चार्ट

ओवुलेशन क्या होता है?

ओवुलेशन वह समय होता है जब महिला के अंडाशय से अंडा निकलता है। यह अंडा फिर फैलोपियन ट्यूब में चला जाता है जहां यह निषेचित (फर्टिलाइज़) हो सकता है। यदि इस दौरान स्पर्म फैलोपियन ट्यूब में होते हैं तो इस बात की एक अच्छी संभावना है कि अंडा फर्टिलाइज़ हो जाएगा। ओवुलेशन आमतौर पर आपके मासिक चक्र के 11 से 21 दिनों के बीच होता है। यह मासिक धर्म चक्र का वह समय जब महिला सबसे अधिक फर्टाइल होती हैं और गर्भ धारण करने की संभावना सबसे अधिक होती है। 

प्रेगनेंसी के लिए कब बनाएं संबंध? 

यदि कोई महिला गर्भ धारण करना चाहती है तो ओव्यूलेशन से पांच दिन पहले या ओव्यूलेशन के दिन सेक्स करना चाहिए। इस दौरान सेक्स करने से प्रेगनेंट होने की संभावना सबसे अधिक होती है। ओव्यूलेशन के 12-24 घंटे बाद एक महिला उस मासिक धर्म के दौरान गर्भवती नहीं हो पाती है क्योंकि अंडा फैलोपियन ट्यूब में नहीं होता है।

ओवुलेशन कब होता है?

औसतन, नियमित मासिक चक्र वाली एक महिला अपने चक्र के 11 और 21वें दिन के बीच कभी-कभी ओव्यूलेट करती है। इसका मतलब है कि एक महिला की फर्टिलिटी विंडो 8वें और 21वें दिन के बीच कहीं पड़ेगी। लेकिन यदि आपका मासिक चक्र छोटा है तो आप 11वें दिन के करीब ओव्यूलेट करने की अधिक संभावना रखती हैं। वहीं, लंबे मासिक धर्म वाली महिलाएं 21वे दिन के करीब ओव्युलेट करती हैं।

इसे भी पढ़ें: सेहत के लिए बहुत जरूरी है सेक्स, शारीरिक संबंध नहीं बनाने के हैं ये बड़े नुकसान

ओवुलेशन के लक्षण 

पेट में नीचे की और हल्का दर्द या ऐंठन होना 

सेक्स करने की इच्छा बढ़ जाना 

योनि में सूजन आना 

शरीर का तापमान थोड़ा कम होना फिर बढ़ना 

सर्वाइकल म्यूकस का अंडे की सफेदी के समान पतला, चिकना और स्पष्ट होना 

सर्विक्स का कोमल होकर खुल जाना

- प्रिया मिश्रा 





डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।