शुक्राणुओं की कमी को दूर करने में काम आते हैं यह उपाय

शुक्राणुओं की कमी को दूर करने में काम आते हैं यह उपाय

कई अध्ययनों से यह पता चलता है कि अधिक वजन वाले लोगों द्वारा वजन कम करने और व्यायाम करने से शुक्राणु की संख्या बढ़ती है और उनकी क्वालिटी भी बेहतर होती है। इसलिए स्पर्म क्वांटिटी को बेहतर बनाने के लिए पर्याप्त नींद लें और नियमित रूप से व्यायाम करें।

कई पुरूषों में शुक्राणुओं की कमी की समस्या देखी जाती है। कम शुक्राणुओं की संख्या का अर्थ है कि एक संभोग के दौरान पुरूष के वीर्य में सामान्य से कम शुक्राणु होते हैं। लो स्पर्म काउंट को ओलिगोस्पर्मिया भी कहा जाता है। यदि किसी पुरूष के प्रति मिलीलीटर वीर्य में 15 मिलियन से कम शुक्राणु है तो आपके शुक्राणु की संख्या सामान्य से कम मानी जाती है। स्पर्म काउंट कम होने पर पुरूष के शुक्राणु महिला के अंडे को निषेचित करते हैं। जिसके कारा गर्भधारण करने में परेशानी आती है। वैसे तो इसके लिए दवाइयां उपलब्ध हैं, लेकिन आप कुछ नेचुरल तरीकों से भी शुक्राणुओं की कमी को दूर किया जा सकता है। तो चलिए जानते हैं इन उपायों के बारे में−

पर्याप्त व्यायाम व नींद

कई अध्ययनों से यह पता चलता है कि अधिक वजन वाले लोगों द्वारा वजन कम करने और व्यायाम करने से शुक्राणु की संख्या बढ़ती है और उनकी क्वालिटी भी बेहतर होती है। इसलिए स्पर्म क्वांटिटी को बेहतर बनाने के लिए पर्याप्त नींद लें और नियमित रूप से व्यायाम करें।

इसे भी पढ़ें: गर्भावस्था में यूं करें अपनी देखभाल, बच्चा होगा हेल्दी

छोड़ें धूम्रपान

आपको शायद पता ना हो, लेकिन तम्बाकू व धूम्रपान करने से शुक्राणु की गुणवत्ता कम होती है। 2016 में हुए एक अध्ययन से भी यह पता चला है कि धूम्रपान और शुक्राणुओं का आपस में गहरा नाता है। इसलिए स्पर्म क्वालिटी बेहतर बनाने के लिए धूम्रपान को आज ही छोड़ दें। वैसे धूम्रपान के अलावा आप शराब व नशीली दवाओं से भी दूरी बनाकर रखें।


दवाइयों का इस्तेमाल

कुछ खास तरह की दवाइयों के सेवन से भी पुरूष के शुक्राणु उत्पादन को संभावित रूप से कम कर सकती हैं। एक बार जब पुरुष दवा लेना बंद कर देता है, तो इससे उनके शुक्राणुओं की संख्या दोबारा बढ़ने लगती है। इन दवाईयों में एंटीबायोटिक्स, एंटी एण्ड्रोजन, एंटी इंफलामेटरी, एंटी−डिप्रेसेंट आदि शामिल हैं।

मेथीदाना

स्पर्म काउंट को बढ़ाने और उसे बेहतर बनाने में मेथीदाने काफी लाभदायक होता है। इसके लिए आप मेथीदाने को अपनी डाइट में शामिल करें। साथ ही आप मेथीदाने से युक्त प्रॉडक्ट को भी अपनी डाइट का हिस्सा बनाएं।

इसे भी पढ़ें: इन नेचुरल तरीकों को अपनाकर करें स्टेमिना बूस्ट अप

पर्याप्त विटामिन डी

2019 में हुई एक स्टडी से यह पता चला कि विटामिन डी और कैल्शियम का पर्याप्त स्तर स्पर्म हेल्थ को बेहतर बनाता है। शोध से पता चलता है कि कैल्शियम की कमी शुक्राणुओं की संख्या पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकती है। इसलिए आप कैल्शियम व विटामिन डी युक्त चीजों को अपनी डाइट का हिस्सा बनाएं।

लें अश्वगंधा

अश्वगंधा जिसे भारतीय जिनसेंग भी कहा जाता है, कई तरह के यौन रोगों को दूर करने में अहम् भूमिका निभाता है। स्पर्म काउंट को बढ़ाने के लिए आप अश्वगंधा का सेवन कर सकते हैं।

मिताली जैन





डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।