• तनाव को छूमंतर करता है पार्श्व सुखासन, शिल्पा शेट्टी से जानें इसे सही तरह से करने का तरीका

मिताली जैन Jun 19, 2021 11:35

पार्श्व सुखासन का अभ्यास करना बेहद आसान है। इसके लिए आप सबसे पहले किसी समतल स्थान पर मैट बिछाकर बैठ जाएं। इस दौरान पैरों को क्रॉस करके बैठें। अब अपने हाथों को जोड़कर नमस्कार मुद्रा में लाएं। फिर इसी मुद्रा में हाथों को ऊपर ही ओर ले जाएं।

तनाव आज के समय में हर किसी की जिन्दगी का एक अहम् हिस्सा बन चुका है, लेकिन अत्यधिक तनाव शारीरिक व मानसिक तौर पर कई परेशानियों की वजह बनता है। ऐसे में तनाव को मैनेज करने के लिए आपको कई तरीकों को अपनाना चाहिए और योगाभ्यास इसी में से एक है। विभिन्न योगासनों में से एक है पार्श्व सुखासन। यह मुख्य रूप से तनाव को मैनेज करने में मददगार है। हाल ही में शिल्पा शेट्टी ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर पार्श्व सुखासन का अभ्यास करते हुए एक वीडियो शेयर की है। साथ ही उसके फायदों के बारे में भी बताया है। जानिए−

इसे भी पढ़ें: सेलेब्रिटी फिटनेस ट्रेनर यासमीन कराचीवाला से जानें अधिक उम्र में कैसे करें अपर बॉडी वर्कआउट

मिलते हैं यह लाभ

पार्श्व सुखासन योगाभ्यास करते हुए वीडियो शेयर करते हुए शिल्पा शेट्टी ने कैप्शन में उसके फायदों के बारे में चर्चा की है। शिल्पा ने लिखा कि यह तनाव और चिंता को दूर करने में मदद करता है जो धीरे−धीरे प्रतिरक्षा प्रणाली और किसी के समग्र स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। साथ ही यह गर्दन, कंधे, और पीठ आदि हिस्सों को स्ट्रेच भी करता है। जब भी आप कर सकते हैं कुछ समय निकालें, इस आसन का अभ्यास करना चुनें, और अपने मन और शरीर को प्रवाह के साथ जाने दें।

इसे भी पढ़ें: कोरोना काल में खान-पान पर इस तरह दें विशेष ध्यान, करें यह एक्साइज

यूं करें पार्श्व सुखासन

इस आसन का अभ्यास करना बेहद आसान है। इसके लिए आप सबसे पहले किसी समतल स्थान पर मैट बिछाकर बैठ जाएं। इस दौरान पैरों को क्रॉस करके बैठें। अब अपने हाथों को जोड़कर नमस्कार मुद्रा में लाएं। फिर इसी मुद्रा में हाथों को ऊपर ही ओर ले जाएं, इससे आपको अपने शरीर के ऊपरी हिस्से में एक स्ट्रेच महसूस होगा। कुछ क्षण इसी अवस्था में रूकें। इसके बाद हाथों को वापिस लाएं। अब अपने बाएं हाथ को मोड़ते हुए उसे जमीन पर रखें और फिर अपना दाहिना हाथ ऊपर की ओर बढ़ाएं और बाईं ओर झुक जाएं। कुछ सेकंड के लिए इस मुद्रा को बनाए रखें। उसके बाद, दूसरी ओर से भी ठीक इसी तरह दोहराएं। आप अपनी क्षमतानुसार इस आसन का अभ्यास कर सकते हैं।

मिताली जैन