पैरालिसिस से बचने के लिए अपनाएं यह आसान उपाय

पैरालिसिस से बचने के लिए अपनाएं यह आसान उपाय

आज के समय तनाव हर किसी की जिंदगी का हिस्सा बन गया है। ऐसे में खुद को शारीरिक व मानसिक रूप से फिट रखने के लिए जरूरी है कि आप व्यायाम को अपने लाइफस्टाइल में जरूर शामिल करें। आप वॉकिंग से लेकर जॉगिंग, एरोबिक्स, योगा, मेडिटेशन, स्विमिंग, आदि कर सकते हैं।

पैरालिसिस को लोग कई नामों से पुकारते हैं। आमभाषा में इसे लकवा कहा जाता है। इसके अलावा इसे पक्षाघात भी कहते हैं। यह स्वास्थ्य समस्या होने  पर व्यक्ति के शरीर का कोई अंग काम करना बंद कर देता है। यह एक बेहद गंभीर समस्या है और अगर इसका सही वक्त पर इलाज ना हो तो व्यक्ति को लंबे समय तक बेड पर रहना पड़ता है। सिर्फ गलत लाइफस्टाइल या तनाव के कारण ही यह समस्या नहीं होती, बल्कि कई अन्य समस्याएं जैसे उच्च रक्तचाप, मधुमेह, धूम्रपान, हृदय संबंधी स्वास्थ्य समस्या, मोटापा व अधिक उम्र के कारण पैरालिसिस होने का खतरा काफी अधिक रहता है। इसलिए इससे बचने के लिए कुछ आसान उपाय अपनाए जा सकते हैं−

इसे भी पढ़ें: हाई बीपी को कंट्रोल करने के लिए करें यह एक्सरसाइज

व्यायाम को बनाएं लाइफस्टाइल का हिस्सा

डॉक्टर्स कहते हैं कि आज के समय तनाव हर किसी की जिंदगी का हिस्सा बन गया है। ऐसे में खुद को शारीरिक व मानसिक रूप से फिट रखने के लिए जरूरी है कि आप व्यायाम को अपने लाइफस्टाइल में जरूर शामिल करें। आप वॉकिंग से लेकर जॉगिंग, एरोबिक्स, योगा, मेडिटेशन, स्विमिंग, आदि कर सकते हैं। यह सभी एक्टिविटी आपको पैरालिसिस के साथ−साथ अन्य कई बीमारियों से बचाए रखने में मदद करेंगी।

तय समय पर लें दवाई

अगगर आपको हाई ब्लड प्रेशर से लेकर डायबिटीज जैसे कोई स्वास्थ्य समस्या है तो उससे संबंधित दवाइयों का सेवन तय समय पर जरूर करें। हेल्थ एक्सपर्ट कहते हैं कि अपनी किसी भी स्वास्थ्य समस्या को बिल्कुल नजरअंदाज ना करें। यह सभी समस्या पैरालिसिस का कारण बन सकती हैं।

इसे भी पढ़ें: फैट कम करने के लिए करें यह आसान एक्सरसाइज

हेल्दी हो लाइफस्टाइल

हेल्दी लाइफस्टाइल कई गंभीर बीमारियों से बचाने में मददगार है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ कहते हैं कि पौष्टिक भोजन लेने मात्र से ही आप पैरालिसिस सहित कई गंभीर बीमारियों को खुद से दूर रख सकते हैं। इसलिए घर के बने भोजन को प्राथमिकता दें और आहार में मौसमी फल, सब्जियों व हरी पत्तेदार सब्जियों को जगह दें। भोजन में नमक को नियंत्रित करना शुरू करें। पैकेज्ड फूड व बाजार में मिलने वाले अचार से दूरी बनाएं, क्योंकि इनमें नमक की मात्रा अधिक होती है। पानी पर्याप्त मात्रा में लें। वहीं अगर आप धूम्रपान करते हैं या फिर आपको शराब पीने की आदत है तो इससे भी दूरी बनाएं। 

मिताली जैन





डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।