स्ट्रॉबेरी जूस के इन स्वास्थ्य लाभों से अब तक अपरिचित होंगे आप

स्ट्रॉबेरी जूस के इन स्वास्थ्य लाभों से अब तक अपरिचित होंगे आप

स्ट्रॉबेरी का रस अगर डाइट में शामिल किया जाए तो इससे टिश्यू स्टेंथ बढ़ने के साथ−साथ शरीर की उपचार प्रक्रिया भी बेहतर होती है। इसमें मौजूद विटामिन सी कोलेजन उत्पादन को बढ़ाता है, जिससे आपकी त्वचा फटती या हडि्डयां कमजोर नहीं होती।

अब जैसे−जैसे मौसम में बदलाव आ रहा है, लोगों का झुकाव पेय पदार्थों की ओर ज्यादा बढ़ने लगा है। अगर आप कुछ रिफ्रेशिंग और मजेदार पीना चाहते हैं तो स्ट्रॉबेरी जूस को अपनी डाइट में शामिल कीजिए। इसका स्वाद तो लाजवाब होता है ही, साथ ही इससे कई तरह के हेल्थ बेनिफिट्स भी मिलते हैं। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में−

निकाले विषाक्त पदार्थ

स्ट्रॉबेरी के जूस में एंटीऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। खासतौर से, इसमें मौजूद एलीजिक एसिड शरीर को सेल डैमेजिंग फ्री रेडिकल्स से बचाने में मदद करता है। इतना ही नहीं, इस जूस में विटामिन सी और फ्रूट पैक्टिन भी उच्च मात्रा में पाया जाता है जो आंतरिक तौर पर एंटीऑक्सीडेंट्स के उत्पादन को बढ़ाता है और कोशिकाओं से विषाक्त पदार्थ को निकालने में मदद करता है।

इसे भी पढ़ें: कई गुणों से भरपूर है अदरक−नींबू की चाय, आजमा कर देखिए

कैंसर से बचाव 

आपको शायद पता न हो लेकिन स्ट्रॉबेरी का रस कैंसर जैसी जानेलवा बीमारी से भी शरीर की रक्षा करता है। ऐसा इसमें मौजूद फोलेट्स, विटामिन सी और एलीजिक एसिड के कारण होता है। 

बढ़ाए इम्युनिटी

जिन लोगों का प्रतिरक्षा तंत्र कमजोर होता है, वह बेहद जल्द बीमार पड़ जाते हैं। ऐसे लोगों को स्ट्रॉबेरी जूस का सेवन अवश्य करना चाहिए। इसमें मौजूद विटामिन और एंटी−ऑक्सीडेंट्स इम्युनिटी को बढ़ाकर शरीर का विभिन्न प्रकार के संक्रमण से बचाव करते हैं।

हीलिंग प्रॉपर्टीज

स्ट्रॉबेरी का रस अगर डाइट में शामिल किया जाए तो इससे टिश्यू स्टेंथ बढ़ने के साथ−साथ शरीर की उपचार प्रक्रिया भी बेहतर होती है। इसमें मौजूद विटामिन सी कोलेजन उत्पादन को बढ़ाता है, जिससे आपकी त्वचा फटती या हडि्डयां कमजोर नहीं होती। वहीं दूसरी ओर इसमें मौजूद मैंगनीज व्यक्ति को जल्दी से ठीक करने में मदद करता है।

इसे भी पढ़ें: जहर भी बन सकता है पानी, जानिए इसे कैसे बनाएं अमृत

गर्भावस्था में लाभदायी

गर्भावस्था में अधिकतर महिलाओं को मॉर्निंग सिकनेस होती है, ऐसे में उनके शरीर का हाइडेटेड रहना बेहद आवश्यक है। स्ट्रॉबेरी के रस में वाटर कंटेंट काफी अधिक होता है और अगर इसका सेवन किया जाए तो आपको हाइडेटेड रहने में मदद मिलती है। साथ ही इससे पेट में भारीपन नहीं होता। इतना ही नहीं, इसमें घुलनशील फाइबर भी पाए जाते हैं, जो मां और गर्भस्थ शिशु के दिल के लिए काफी अच्छे माने जाते हैं। वहीं इसमें मौजूद फोलेट, पोटेशियम और मैग्नीशियम बच्चे की हडि्डयों का विकास सुनिश्चित करती है। इस प्रकार हर गर्भवती महिला को स्ट्रॉबेरी जूस का सेवन अवश्य करना चाहिए। 

मिताली जैन





डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

लाइफस्टाइल

झरोखे से...