जानिए ड्राई फ्रूट्स खाने का हेल्दी तरीका और इससे जुड़े मिथ्स

जानिए ड्राई फ्रूट्स खाने का हेल्दी तरीका और इससे जुड़े मिथ्स

ड्राई फ्रूट्स कैलोरी का एक कंसन्टेटेड सोर्स है। अगर आप प्रतिदिन की निर्धारित मात्रा से अधिक ड्राई फ्रूट्स का सेवन करते हैं, तभी आपकी दैनिक कुल कैलोरी आवश्यकता से अधिक होगी। कैलोरी की अधिक खपत से वजन बढ़ने की संभावना रहती हैं।

जब भी हेल्दी फूड्स की बात होती है तो उसमें ड्राई फ्रूट्स का नाम जरूर लिया जाता है। काजू से लेकर बादाम, मखाने से लेकर पिस्ता तक कई तरह के ड्राई फ्रूट्स को लोग अपनी डाइट में शामिल करते हैं। हालांकि एक सच यह भी है कि ड्राई फ्रूट्स को लेकर लोगों के मन में कई तरह की भ्रांतियां व उलझनें हैं। मसलन, कुछ लोग बादाम को कच्चा खाना पसंद करते हैं तो कुछ भिगोकर, वहीं कुछ इसे छिलके सहित खाने की सलाह देते हैं तो कुछ छिलका उतारकर। ऐसे में समझ में नहीं आता कि ड्राई फ्रूट्स को हेल्दी तरीके से किस तरह खाया जाए ताकि उसका अधिकतम लाभ शरीर को मिले। तो चलिए आज हम आपको ड्राई फ्रूट्स खाने का हेल्दी तरीका और इससे जुड़े कुछ मिथ्स के बारे में बता रहे हैं−

इसे भी पढ़ें: तेजी से करना है वजन कम तो इन ड्राई फ्रूट्स का करें सेवन

मिथ 1− वजन बढ़ाते हैं ड्राई फ्रूट्स

हेल्थ एक्सपर्ट बताते हैं कि ड्राई फ्रूट्स कैलोरी का एक कंसन्टेटेड सोर्स है। अगर आप प्रतिदिन की निर्धारित मात्रा से अधिक ड्राई फ्रूट्स का सेवन करते हैं, तभी आपकी दैनिक कुल कैलोरी आवश्यकता से अधिक होगी। कैलोरी की अधिक खपत से वजन बढ़ने की संभावना रहती हैं। वहीं दूसरी ओर, अगर आप इसे सही मात्रा में खाते हैं तो इससे ब्लड कोलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ता है। वास्तव में, सूखे फल और नट्स फाइबर, खनिज और विटामिन से भरपूर होते हैं, हमारे दैनिक आहार में उनका समावेश रक्त शर्करा, कोलेस्ट्रॉल और रक्तचाप को नियंत्रण में रखने और मोटापे को रोकने में मदद कर सकता है।

मिथ 2−एलर्जी का कारण बनते हैं ड्राई फ्रूट्स

हेल्थ एक्सपर्ट की मानें तो ड्राई फ्रूट्स एलर्जी का कारण नहीं बनते हैं। हालांकि, अध्ययनों से पता चला है कि 20−40 प्रतिशत लोग जिन्हें मूंगफली से एलर्जी है, उन्हें नट्स से भी एलर्जी है। इसलिए, जिन लोगों को मूंगफली की एलर्जी है, उन्हें अपने आहार में अन्य नट्स को शामिल करते समय सावधानी बरतनी चाहिए। इसके लिए आप डाइटीशियन से बात कर सकते हैं। इस तरह यह कहना कि ड्राई फ्रूट्स एलर्जी का कारण बनते हैं, वास्तव में गलत है।

इसे भी पढ़ें: जानिए हर दिन कितनी मात्रा में खाने चाहिए ड्राई फ्रूट्स

मिथ 3−गर्भावस्था में खाएं या नहीं

गर्भावस्था में हर महिला को अपने खानपान के लिए अतिरिक्त सावधानी बरतनी पड़ती है। ऐसे में गर्भावस्था में ड्राई फ्रूट्स को खाना चाहिए या नहीं, इसे लेकर हमेशा उलझन ही बनी रहती है। हेल्थ एक्सपर्ट कहते हैं कि ड्राई फ्रूट्स विटामिन्स, मिनरल्स, फाइबर और अमीनो एसिड्स का भंडार हैं, इसलिए गर्भवती महिला को इसका सेवन जरूर करना चाहिए। यह भूख को भी नियंत्रित करने में मदद होते हैं, हालांकि आपको इसकी एक सुनिश्चित मात्रा ही लेनी चाहिए। इसके अलावा आपको डॉक्टर की सलाह पर नियमित रूप से व्यायाम भी करना चाहिए।

मिताली जैन





डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।