डायट में शामिल करें यह 5 चीजें, नहीं होगी प्रोटीन की कमी

डायट में शामिल करें यह 5 चीजें, नहीं होगी प्रोटीन की कमी

सोयाबीन में प्रोटीन के साथ ही फाइबर, मिनरल्स, आयरन, मैंगनीज, फॉसफोरस, कॉपर, पोटेशियम, जिंक और सेलेनियम की भरपूर मात्रा होती है। इसमें सैचुरेटेड फैट की मात्रा कम होती है जिससे कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद मिलती है।

मीट में हाई प्रोटीन होता है, इसलिए मांसाहारी लोग प्रोटीन की कमी दूर करने के लिए चिकन, मटन, मछली आदि को तवज्जो देते हैं, लेकिन कोरोना वायरस फैलने के बाद से हेल्थ एक्सपर्ट्स लोगों को वेजीटेरियन खाने की सलाह दे रहे हैं। ऐसे में लोगों के मन यह भी सवाल उठ रहे हैं कि मीट से मिलने वाले प्रोटीन की भरपाई वो वेजीटेरियन खाने से कैसे करेंगे। तो आज हम आपको कुछ ऐसे वेजीटेरियन फूड्स के बारे में बताने जा रहे हैं तो प्रोटीन के बेहतरीन स्रोत हैं और इन्हें अपनी डेली डायट में शामिल करके आप प्रोटीन की कमी को दूर सकते हैं।

सोयाबीन

सोयाबीन में प्रोटीन के साथ ही फाइबर, मिनरल्स, आयरन, मैंगनीज, फॉसफोरस, कॉपर, पोटेशियम, जिंक और सेलेनियम की भरपूर मात्रा होती है। इसमें सैचुरेटेड फैट की मात्रा कम होती है जिससे कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद मिलती है। यह हृदय रोग और डायबिटीज से बचाने में भी फायदेमंद है। सोयाबीन में लेसीथिन नामक तत्व होता है जो आपके लीवर को हेल्दी बनाने में फायदेमंद है।

प्रोटीन की मात्रा- 100 ग्राम सोयाबीन में 36 ग्राम प्रोटीन होता है।

इसे भी पढ़ें: इन सब्जियों में भरपूर मात्रा में होता है प्रोटीन, अवश्य करें सेवन

राजमा

राजमा चावल बहुत से लोगों की फेवरेट डिश होती है। क्या आपको पता है कि राजमा प्रोटीन का बेहतरीन स्रोत है। इसमें आयरन, फाइबर, विटामिन के, बी और मैग्नीशियम की भी भरपूर मात्रा होती है। यह कोलेस्ट्रोल लेवल को नियंत्रित रखकर दिल की बीमारियों से बचाता है। शरीर को ताकत देन के साथ ही यह ब्लड शुगर लेवल और आपके नर्वस सिस्टम को दुरुस्त रखने में मदद करता है।

प्रोटीन की मात्रा- 100 ग्राम राजमा में 24 ग्राम प्रोटीन होता है।

बादाम

दिमाग तेज करने के लिए अक्सर बादाम खाने की सलाह दी जाती है। बादाम में एंटीऑक्सीडेंट, अनसैचुरेटेड फैटी एसिड और फाइबर के साथ ही प्रोटीन की भरपूर मात्रा होती है। रोजाना बादाम खाने से न सिर्फ दिमाग तेज होता है, बल्कि यह आपको हृदय रोगों से भी बचाता है, शुगर लेवल कम करने के सात ही यदि शरीर में सूजन है तो उसे कम करने में भी मदद करता है। यह आंखों और बालों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। बादाम को सुबह भिगोकर खाना ज़्यादा फायदेमंद होता है

प्रोटीन की मात्रा- 100 ग्राम बादाम में 21 ग्राम प्रोटीन होता है।

इसे भी पढ़ें: प्रोटीन की कमी से होती हैं कई समस्याएं, नजरअंदाज न करें

मसूर दाल

दालें हमारे खाने का अभिन्न हिस्सा है और यह प्रोटीन से भरपूर होती हैं। खासतौर पर मसूर की दाल। मसूर दाल में न सिर्फ प्रोटीन, बल्कि फाइबर, फोलेट, मैंगनीज, आयरन, फॉस्फोरस, पोटेशियम और बी विटामिन भी होता है। मसूर में मौजूद प्रोटीन आपके हार्ट को हेल्दी बनाने और डाइजेशन सिस्टम को ठीक रखने के साथ ही शुगर लेवल को भी नियंत्रित करता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट इंफेक्शन और कैंसर जैसी बीमारी से बचाने में मददगार है।

प्रोटीन की मात्रा- 1 कप मसूर दाल में 18 ग्राम प्रोटीन होता है।

अलसी (फ्लैक्स सीड)

आपने अलसी के लड्डू तो खाए ही होंगे। यह ओमेगा 3 और फाइबर का बेहतरीन स्रोत है, लेकिन क्या आपको पता है कि इसमें प्रोटीन की भी भरपूर मात्रा होती है। आप फ्लैक्स सीड के लड्डू बना सकती हैं या किसी भी कुरकुरे स्नैक्स में इसे भूनकर मिक्स करके खाया जा सकता है। इसकी चटनी भी बना सकते हैं।

प्रोटीन की मात्रा- 100 ग्राम अलसी में 10 ग्राम प्रोटीन होता है।

- कंचन सिंह





डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।