शरीर में विटामिन K की कमी पड़ सकती है भारी, जानें लक्षण और बचाव के उपाय

शरीर में विटामिन K की कमी पड़ सकती है भारी, जानें लक्षण और बचाव के उपाय

विटामिन K हड्डियों, ह्रदय, मस्तिष्क के सुचारू तरह से कामकाज करने के लिए महत्वपूर्ण है। विटामिन K दो रूप में होता है - विटामिन K1 (फाइलोक्विनोन) और विटामिन K2 (मेनक्विनोन)। विटामिन K1 मुख्य रूप से हरी सब्जियों से मिलता है वहीं विटामिन K2 जानवरों से प्राप्त होते हैं जैसे चीज, मांस अंडे आदि।

स्वस्थ रहने के लिए हमारे शरीर को कई तरह के विटामिन की जरूरत होती है। ऐसा ही एक महत्वपूर्ण विटामिन है विटामिन K। यह विटामिन  हड्डियों, ह्रदय, मस्तिष्क के सुचारू तरह से कामकाज करने के लिए महत्वपूर्ण है।  विटामिन K दो रूप में होता है - विटामिन K1 (फाइलोक्विनोन) और विटामिन K2 (मेनक्विनोन)। विटामिन K1 मुख्य रूप से हरी सब्जियों से मिलता है वहीं विटामिन K2 जानवरों से प्राप्त होते हैं जैसे चीज, मांस अंडे आदि।  शरीर में पर्याप्त मात्रा में विटामिन K के उत्पादन से कैंसर से बचाव होता है, हड्डियों मजबूत बनती हैं और इंसुलिन के प्रति संवेदनशीलता बढ़ती है। वहीं, शरीर में विटामिन K की कमी होने पर शरीर में कई समस्याएँ होने लगती हैं।

इसे भी पढ़ें: लो ब्लड प्रेशर की रहती है समस्या तो अपनाएं यह उपाय

विटामिन K की कमी के लक्षण 

जोड़ों में दर्द

मांसपेशियों में अचानक ऐंठन या संकुचन पैदा होना 

हल्का चोट लगने पर भी ज्यादा खून बहना  

घाव का जल्दी ना भरना 

दांतों या मसूड़ों से अक्सर खून आना 

मल का त्याग करते समय या पेशाब के दौरान खून निकलना 

मासिक धर्म के दौरान अधिक दर्द होना

इसे भी पढ़ें: आवाज़ें सुनकर होने लगती है चिड़चिड़ाहट और बेचैनी तो हो सकती है ये बीमारी, जानें क्या है इलाज

विटामिन K की कमी से बचाव 

शरीर में विटामिन K की कमी से बचाव के लिए अपने खानपान का खास ख्याल रखें। हरे पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, पत्ता गोभी, फूल गोभी और ब्रोकोली आदि का सेवन करें। यह सब्जियां विटामिन K से भरपूर होती हैं और इनके सेवन से विटामिन K की कमी को पूरा किया जा सकता है। 

विटामिन K की कमी से बचाव के लिए आप डॉक्टर की सलाह से विटामिन K की गोलियां या सप्लीमेंट्स भी ले सकते हैं।

विटामिन K की कमी से बचने के लिए आप  विटामिन K का इंजेक्शन भी ले सकते हैं। इससे कम समय में विटामिन K की कमी को पूरा किया जा सकता है। हालाँकि, आपको डॉक्टर की सलाह के बाद ही कोई उपचार करना चाहिए।

- प्रिया मिश्रा





डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।