इन चीजों को खाने से दूर होगी विटामिन ई की कमी

इन चीजों को खाने से दूर होगी विटामिन ई की कमी

मूंगफली और उसकी मदद से बनने वाले मक्खन में विटामिन ई प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। महज दो टेबलस्पून पीनट बटर के सेवन से आप अपने शरीर के विटामिन ई की दैनिक आवश्यकता का 18 प्रतिशत प्राप्त कर सकते हैं।

शरीर के लिए विटामिन ई उतना ही आवश्यक है, जितना कि अन्य पोषक तत्व। विटामिन ई वसा में घुलनशील एक विटामिन है। इसकी मुख्य भूमिका एक एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करना है। इतना ही नहीं, यह इम्युन सिस्टम को भी बेहतर बनाता है और दिल की धमनियों में थक्के बनने से रोकता है। लेकिन जब आप पर्याप्त मात्रा में विटामिन ई नहीं लेते तो इससे आपको कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं शुरू हो जाती हैं। तो चलिए आज हम आपको उन आहार के बारे में बता रहे हैं, जो विटामिन ई से भरपूर हैं और जिनके सेवन से आप शरीर में विटामिन ई की कमी को आसानी से दूर कर सकते हैं−

एवोकैडो

एवोकाडो कई पोषक तत्वों का एक समृद्ध स्रोत है, जैसे पोटेशियम, ओमेगा −3 एस, और विटामिन सी और विटामिन के। आधा एवोकाडो भी आपके विटामिन ई की दैनिक आवश्यकता का 20 प्रतिशत तक होता है। वैसे आम और कीवी में भी विटामिन ई होता है, लेकिन एवोकाडो में विटामिन ई की मात्रा अधिक पाई जाती है।

सूरजमुखी के बीज

डायटीशियन के अनुसार, सूरजमुखी के बीज में विटामिन ई के अलावा मैग्नीशियम, कॉपर, विटामिन बी1, सेलेनियम और फाइबर मिलता है। ऐसे में आप इसे अपने ब्रेकफास्ट में बेहद आसानी से शामिल कर सकते हैं।

पीनट बटर

मूंगफली और उसकी मदद से बनने वाले मक्खन में विटामिन ई प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। महज दो टेबलस्पून पीनट बटर के सेवन से आप अपने शरीर के विटामिन ई की दैनिक आवश्यकता का 18 प्रतिशत प्राप्त कर सकते हैं।

बादाम

आपको शायद पता ना हो लेकिन बादाम भी आपके शरीर में विटामिन ई की कमी को पूरा करने में मदद करते हैं। करीबन एक औंस बादाम से आपको 7.3 मिलीग्राम विटामिन ई प्राप्त होता है। वैसे बादाम के सेवन से आपको अन्य भी कई लाभ प्राप्त होते हैं। जैसे याददाश्त का तेज होना, मोटापा और हृदय रोग के जोखिम का कम होना आदि।

पाइन नट

हेल्थ एक्सपर्ट बताते हैं कि बादाम की तरह ही पाइन नट्स में भी विटामिन ई पाया जाता है। दो टेबलस्पून पाइन नट से आपको करीबन 3 मिलीग्राम विटामिन ई प्राप्त होता है।

मिताली जैन





डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।