Britney spears की बड़ी मांग, जानिए सिंगर ने क्यों कहा- मुझे मेरे पिता से आजादी चाहिए!

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 25, 2021   18:04
Britney spears की बड़ी मांग, जानिए सिंगर ने क्यों कहा- मुझे मेरे पिता से आजादी चाहिए!

सुनवाई के दौरान स्पीयर्स के करीब 100 प्रशंसक अदालत के बाहर एकत्रित हुए और हाथ में ‘‘ब्रिटनी को अब आजाद करें’’ और ‘‘ब्रिटनी की जिंदगी से बाहर निकलो’’ की तख्ती लिए नजर आए। अदाकारा जेनिफर प्रेस्टन (33) भी सुनवाई के दौरान अदालत के बाहर मौजूद थीं।

लॉस एंजिलिस। अमेरिकी गायिका ब्रिटनी स्पीयर्स ने बुधवार को न्यायाधीश को उस ‘कंजरवेटरशिप’ (संरक्षण व्यवस्था) को समाप्त करने का अनुरोध किया, जिसके जरिए 2008 से उनका जीवन एवं धन नियंत्रित किया जा रहा है। अमेरिकी कानून के तहत ‘कंजरवेटरशिप’में बुढ़ापे या शारीरिक या मानसिक सीमाओं के कारण किसीव्यक्ति के वित्तीय मामलों या दैनिक जीवन का प्रबंधन करने के लिए एक संरक्षक या एक रक्षक की नियुक्ति की जाती है। लॉस एंजिलिस में सुनवाई के दौरान 13 साल में पहली बार ब्रिटनी ने अदालत से ‘कंजरवेटरशिप’ समाप्त करने का अनुरोध किया।

इसे भी पढ़ें: सलमान खान ने क्यों कहा- अपनी गलतियां स्वीकार करने के लिए हिम्मत होनी चाहिए!

स्पीयर्स ने इस व्यवस्था को ‘‘अपमानजनक’’ बताया और इसके लिए अपने पिता तथा अन्य की निंदा की। स्पीयर्स ने एक भावुक बयान में कहा, ‘‘ मैं चाहती हूं कि बिना किसी मूल्यांकन के इस ‘कंजरवेटरशिप’ को समाप्त किया जाए।’’ बयान में उन्होंने कानून व्यवस्था और अपने पिता की निंदा की,‘‘ जिन्होंने उनके अधिकतर अस्तित्व को नियंत्रित किया है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ ‘कंजरवेटरशिप’ से मेरा भला होने से अधिक नुकसान हो रहा है। मैं एक जिंदगी पाने की हकदार हूं।’’ गायिका ने कहा कि वह अपने प्रेमी से शादी करना चाहती हैं और बच्चा चाहती हैं, लेकिन ‘कंजरवेटरशिप’व्यवस्था उन्हें इसकी अनुमति नहीं दे रही है।

इसे भी पढ़ें: किंग खान को बॉलीवुड में पूरे हुए 29 साल, एक्टर ने फैंस के लिए लिखा प्यार भरा मैसेज

सुनवाई के दौरान स्पीयर्स के करीब 100 प्रशंसक अदालत के बाहर एकत्रित हुए और हाथ में ‘‘ब्रिटनी को अब आजाद करें’’ और ‘‘ब्रिटनी की जिंदगी से बाहर निकलो’’ की तख्ती लिए नजर आए। अदाकारा जेनिफर प्रेस्टन (33) भी सुनवाई के दौरान अदालत के बाहर मौजूद थीं। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं एक मां और एक प्रशंसक हूं। हम यहां सुनने आए हैं कि वह क्या कहना चाहती हैं। उनके साथ पिछले 13 साल से एक बच्चे की तरह व्यवहार किया जा रहा है, उनका उनके या उनके मंगेतर के जीवन पर कोई नियंत्रण नहीं है, जबकि वह यह सब संभालने में सक्षम हैं।’’ ब्रिटनी स्पीयर्स ने अदालत के समक्ष फोन से अपनी बात रखी थी। इससे पहले कभी अदालत में उनके बयान को सार्वजनिक नहीं किया गया। आखिरी बार मई 2019 में उन्होंने अदालत के समक्ष अपनी बात रखी थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।