हॉलीवुड की वो एक्ट्रेस जिसे बचपन में शोहरत तो मिली, पर एक लत ने बिगाड़ दी ज़िंदगी

By आकांक्षा तिवारी | Publish Date: Jul 23 2019 3:13PM
हॉलीवुड की वो एक्ट्रेस जिसे बचपन में शोहरत तो मिली, पर एक लत ने बिगाड़ दी ज़िंदगी
Image Source: Google

यही नहीं, बैरीमोर जब 13 साल की थी, तब उन्होंने अपने हाथों की कलाई तक काट ली थी। पर शायद इस बार भी किस्मत उनके साथ थी और वो बच गईं। इतना सब होने के बावजादू बैरीमोर की मां ने उन पर ध्यान नहीं दिया। इसके बाद एक दिन ऐसा आया ही गया, जब ख़राब हालत की वजह से बैरीमोर को मेंटल हॉस्पिटल में एडमिट होना पड़ा।

ड्रग्स और कोकिन की वजह से अब तक कई सेलेब्स का कॅरियर तबाह हो चुका है। फिर चाहें वो सेलिब्रिटी बॉलीवुड का हो या हॉलीवुड का। ऐसे ही सेलेब्स में हॉलीवुड अभिनेत्री ड्रू बैरीमोर का भी नाम शामिल है। बैरीमोर के दादा और पिता दोनों ही बेहद लोकप्रिय स्टार्स थे। पर शराब की लत के कारण बैरीमोर के पिता अपने कॅरियर में ज़्यादा कुछ नहीं कर पाये। यही नहीं, बैरीमोर जब पैदा हुईं तब तक उनके माता-पिता का तलाक हो चुका था। 
 
वहीं दूसरी तरफ बैरीमोर की मां एक्ट्रेस बनना चाहती थी, पर हक़ीकत में ऐसा हो नहीं पाया। बैरीमोर की मां ख़ुद एक्ट्रेस नहीं बन पाई इसलिये उन्होंने अपनी बेटी को स्टार बनाने की ठानी। इस मामले में किस्मत ने बैरीमोर का साथ दिया और महज़ 9 साल की उम्र में उन्हें फिल्म ई.टी मिल गई। इस फ़िल्म ने न सिर्फ़ बैरीमोर को ब्रेक दिया, बल्कि रातों-रात उन्हें स्टार भी बना दिया। 
ई.टी की सफ़लता के बाद बैरीमोर की मां बेहद ख़ुश थीं, जिसके बाद वो अपनी बेटी की मैनेजर भी बन गईं। इसके साथ ही पार्टी में जाने-आने का सिलसिला भी शुरू हो गया। बैरीमोर 9 साल की उम्र में मां के साथ स्टूडियो 54 नाइटक्लब पहुंची, जहां उन्होंने पहली दफ़ा बीयर ट्रॉय की। इसके बाद 12 की उम्र तक वो कोकीन की लत में रंग चुकी थी। हांलाकि, ये सब देखते हुए भी बैरीमोर की मां उन्हें लेकर गंभीर नहीं हुईं। 
 
यही नहीं, बैरीमोर जब 13 साल की थी, तब उन्होंने अपने हाथों की कलाई तक काट ली थी। पर शायद इस बार भी किस्मत उनके साथ थी और वो बच गईं। इतना सब होने के बावजादू बैरीमोर की मां ने उन पर ध्यान नहीं दिया। इसके बाद एक दिन ऐसा आया ही गया, जब ख़राब हालत की वजह से बैरीमोर को मेंटल हॉस्पिटल में एडमिट होना पड़ा। अस्पताल का ज़िक्र करते हुए एक बार बैरीमोर ने कहा था कि वो जगह उन्हें काफ़ी ख़राब लगती थी, पर इसी की वजह से उन्हें अनुसाशन सीखने को भी मिला। 


अस्पताल से बैरीमोर ठीक होकर तो आ गई पर इसके साथ ही वो अपनी मां से भी अलग हो गईं। अब बैरीमोर अपनी एक नई ज़िंदगी शुरू कर चुकी हैं, एक्टिंग के साथ-साथ वो कई तरह के और काम संभाल रही हैं।


 
- आकांक्षा तिवारी
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप