Emmy Awards में जेरल झेरोम ने अपने नाम किए दो रिकॉर्ड

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 23, 2019   15:11
  • Like
Emmy Awards में जेरल झेरोम ने अपने नाम किए दो रिकॉर्ड
Image Source: Google

वेब सीरिज ‘वेन दे सी अस’के लिए उन्हें ‘लिमिटेड सीरिज एक्टिंग कैटेगरी’ में पुरस्कृत किया गया है। अवा डुवरने के निर्देशन में बनी ‘सेंट्रल पार्क फाइव’सीरिज में 21 वर्षीय झेरोम ने कमाल की अदाकारी की थी। पांच किशोरों की कहानी पर बनी इस सीरीज में केवल चार धारावाहिक हैं।

लॉस एंजिलिस। अभिनेता जेरल झेरोम एमी अवार्ड्स में पुरस्कार जीतने वाले पहले अफ्रीकी मूल के लातिन अमेरिकी बन गए हैं। इसके साथ ही वह एमी जीतने वाले सबसे युवा कलाकार भी बन गए हैं।

वेब सीरिज ‘वेन दे सी अस’के लिए उन्हें ‘लिमिटेड सीरिज एक्टिंग कैटेगरी’ में पुरस्कृत किया गया है। अवा डुवरने के निर्देशन में बनी ‘सेंट्रल पार्क फाइव’सीरिज में 21 वर्षीय झेरोम ने कमाल की अदाकारी की थी। पांच किशोरों की कहानी पर बनी इस सीरीज में केवल चार धारावाहिक हैं। यह 1989 मामले पर आधारित है। 

इसे भी पढ़ें: आंखों से न देख सकने वाले सिंगर कोडी ली ने जीता America''s Got Talent का खिताब

इसके अलावा जोडी कॉमर ने भी अपने करियर का पहला एमी जीता। उन्हें ‘किलिंग ईव’ के लिए यह पुरस्कार मिला है। अदाकरा ने अपने माता-पिता को लीवरपुल से यहां नहीं बुलाया था क्योंकि उन्हें पुरस्कार मिलने की उम्मीद नहीं थी, जिसके लिए उन्होंने उनसे माफी भी मांगी।







प्रियंका चोपड़ा को चार साल पहले मिला था पद्म श्री! एक्ट्रेस ने शेयर की अवॉर्ड से जुड़ी अपनी यादें

  •  रेनू तिवारी
  •  नवंबर 28, 2020   11:45
  • Like
प्रियंका चोपड़ा को चार साल पहले मिला था पद्म श्री! एक्ट्रेस ने शेयर की अवॉर्ड से जुड़ी अपनी यादें
Image Source: Google

एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा इन दिनों अपने पति के साथ अमेरिका में हैं। वह अपनी आगामी फिल्मों की शूटिंग में व्यस्त है। भले ही प्रियंका चोपड़ा अमेरिका में रह रही हो लेकिन वह हर त्यौहार, परिवार के फंक्शन और अपने बिजनेस की देखरेख के लिए भारत आती रही है।

एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा इन दिनों अपने पति के साथ अमेरिका में हैं। वह अपनी आगामी फिल्मों की शूटिंग में व्यस्त है। भले ही प्रियंका चोपड़ा अमेरिका में रह रही हो लेकिन वह हर त्यौहार, परिवार के फंक्शन और अपने बिजनेस की देखरेख के लिए भारत आती रही है। प्रियंका चोपड़ा ये जानती है कि आज वह जो कुछ है अपनी मेहनत और अपने देश से मिले प्यार और सम्मान की वजह से है। प्रियंका ने शुक्रवार को इंस्टाग्राम पर अपने पुराने दिनों को याद किया। उन्होंने उस दिन को याद किया जब उन्हें पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। अभिनेत्री को राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक समारोह में तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से अप्रैल 2016 में प्रतिष्ठित पुरस्कार वापस मिला।

इसे भी पढ़ें: 'जर्सी' के आखिरी शेड्यूल की शूटिंग करने चंडीगढ़ पहुंची मृणाल ठाकुर, कोविड19 पर दिया ये बयान

प्रियंका चोपड़ा ने इंस्टाग्राम पर इवेंट की तस्वीरें साझा करते हुए उल्लेख किया कि कैसे उनके परिवार ने आनंद और गर्व ने इस क्षण को और भी अधिक विशेष बना दिया। तस्वीरों में आप प्रियंका चोपड़ा के साथ खड़े उनके परिवार के सदस्यों को भी देख सकते हैं जो सम्मान मिलने के दौरान प्रियंका चोपड़ा के साथ थे।

इसे भी पढ़ें: प्रभास की राह पर तेलुगु सुपरस्टार बेलमकोंडा, राजमौली की फिल्म से करेंगे बॉलीवुड में एंट्री!

प्रियंका चोपड़ा ने पद्म श्री प्राप्त करने के दिन से खुद की तस्वीरें पोस्ट कीं। कैप्शन में, अभिनेत्री ने एक लंबा नोट लिखा है, जिसमें उल्लेख किया गया है कि उस दिन को और अधिक विशेष बना दिया गया था क्योंकि उनके परिवार ने खुशी और गर्व महसूस किया था। नोट के अंत में, वह लिखती है कि उस दिन गायब एकमात्र चीज़ उसके पिता थे, और 'भले ही वह शारीरिक रूप से वहां नहीं थे, लेकिन वह अप्रत्यक्ष रुप से उनके साथ थे और उनकी यात्रा का एक बड़ा हिस्सा है'।

उन्होंने आगे लिखा, “जब मैं इन तस्वीरों को देखती हूं और उस दिन के बारे में सोचती हूं तो मुझे पद्मश्री से सम्मानित किया गया - भारत का चौथा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार, यह बहुत सारी अविश्वसनीय यादें वापस लाता है। हालांकि यह निश्चित रूप से मेरे लिए एक व्यक्तिगत उपलब्धि थी, जिसने इसे इतना खास बना दिया कि यह मेरे परिवार को मिली खुशी और गर्व को महसूस किया जा सकता था।







Oscars 2021: फिल्म 'जलीकट्टू' ऑस्कर में करेगी भारत का प्रतिनिधित्व

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 25, 2020   17:20
  • Like
Oscars 2021: फिल्म 'जलीकट्टू' ऑस्कर में करेगी भारत का प्रतिनिधित्व
Image Source: Google

ऑस्कर में ‘जलीकट्टू’फिल्म भारत का प्रतिनिधित्व करेगी।हिंदी, उड़िया, मराठी और अन्य भाषाओं की 27 प्रविष्टियों के बीच इस फिल्म को सर्वसम्मति से चुना गया।चयन मंडल ने फैसला किया है कि मलयालम फिल्म ‘जलीकट्टू’ ऑस्कर में भारत का प्रतिनिधित्व करेगी।

नयी दिल्ली। फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया (एएफआई) ने बुधवार को कहा कि लीजो जोस पेल्लिसेरी द्वारा निर्देशित मलयालम फिल्म ‘जलीकट्टू’ को ऑस्कर में अंतरराष्ट्रीय फीचर फिल्म श्रेणी के लिए भारत की ओर से आधिकारिक तौर पर भेजने का फैसला किया गया है। हिंदी, उड़िया, मराठी और अन्य भाषाओं की 27 प्रविष्टियों के बीच इस फिल्म को सर्वसम्मति से चुना गया। फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया के चयन मंडल के अध्यक्ष फिल्मकार राहुल रवैल ने ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में बताया, ‘‘हिंदी, मलयालम और मराठी समेत कुल 27 फिल्में आयी थी। चयन मंडल ने फैसला किया है कि मलयालम फिल्म ‘जलीकट्टू’ ऑस्कर में भारत का प्रतिनिधित्व करेगी।’’

इसे भी पढ़ें: बॉलीवुड एक्ट्रेस जैकलीन फर्नांडीज ने सोशल मीडिया पर शेयर की बोल्ड तस्वीर, फैंस हुए हैरान

यह फिल्म हरीश की लघु कथा पर आधारित है। इसमें एंटनी वर्गीज, चेम्बन विनोद जोस, सबुमन अब्दुसमद और सेंथी बालाचंद्रण ने भूमिका निभायी है। चयन मंडल ने ‘छपाक’, ‘शकुंतला देवी’, ‘छलांग’, ‘गुलाबो सिताबो’, ‘द स्काय इज पिंक’, ‘बुलबुल’ और ‘द डिसाइपल’ जैसी फिल्मों के बीच इसका चयन किया। ‘अंगामली डायरीज’ और ‘ऐ मा यू’ जैसी कई चर्चित फिल्में बनाने वाले जोस पेल्लिसेरी को ‘बहुत कुशल निर्देशक’ बताते हुए रवैल ने कहा कि ‘जलीकट्टू’ जैसी फिल्मपर देश को नाज होना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: अंकिता लोखंडे ने किया बॉयफ्रेंड के साथ डांस, सुशांत के फैंस को पसंद नहीं आयी वीडियो, कर दिया कंमेंट

अध्यक्ष ने कहा, ‘‘समूची फिल्म में एक पशु की बात कही गयी है जिसके सिर पर खून सवार है...फिल्म में अच्छे से चित्रण किया गया है और बहुत अच्छे से फिल्माया गया है। फिल्म के दौरान कई तरह की भावनाएं उमड़ती रहती हैं।’’ ‘जलीकट्टू’ को सितंबर 2019 में टोरंटो अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में प्रदर्शित किया गया था और इसे काफी सराहना मिली थी। पिछले साल पेल्लिसेरी को भारत के 50 वें अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का पुरस्कार भी मिला था। वर्ष 2019 में जोया अख्तर की फिल्म ‘‘गली ब्वॉय’’ को भारत की तरफ से आधिकारिक तौर पर ऑस्कर के लिए भेजा गया था।







ग्रैमी पुरस्कार विजेता आडियो इंजीनियर ब्रूस स्वीडन का निधन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 23, 2020   10:35
  • Like
ग्रैमी पुरस्कार विजेता आडियो इंजीनियर ब्रूस स्वीडन का निधन
Image Source: Google

पांच बार के ग्रैमी पुरस्कार से सम्मानित आडियो इंजीनियर’ ब्रूस स्वेडिएन का निधन हो गया है। वह 86 साल के थे।

लॉस एंजिलिस (अमेरिका)। पांच बार के ग्रैमी पुरस्कार से सम्मानित आडियो इंजीनियर’ ब्रूस स्वेडिएन का निधन हो गया है। वह 86 साल के थे। स्वेडिएन की बेटी एवं सगीतकार रॉर्बटा स्वेडिएन ने बताया कि उनके पिता का निधन फ्लोरिडा के गैनेस्विल्ले में 16 नवम्बर को हुआ था।

इसे भी पढ़ें: ड्रग्स मामले में भारती सिंह और हर्ष लिंबाचिया को न्यायिक हिरासत में भेजा गया 

वह लंबे समय से बीमार थे। ‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ की एक खबर के अनुसार उनके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की भी पुष्टि हुई थी, लेकिन उनमें कोविड-19 के कोई लक्षण नहीं थे। रॉर्बटा ने फेसबुक पर लिखा कि उन्हें जीवन में प्यार, बेहतरीन संगीत और एक शानदार शादी सभी का सुख मिला।

इसे भी पढ़ें: कॉमेडियन भारती सिंह से पूछताछ के बाद एनसीबी ने किया गिरफ्तार, गांजा सेवन का आरोप

अपने 65 साल से अधिक लंबे करियर में पांच बार ग्रैमी पुरस्कार अपने नाम कर चुके स्वेडिएन ने माइकल जैक्सन और क्विंसी जोन्स जैसे कई बड़े कलाकारों के साथ काम किया था।