1500 साल पहले यहां बनायी जाती थी शराब, खोजते- खोजते मिल गये सुराग

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 12, 2021   14:35
1500 साल पहले यहां बनायी जाती थी शराब, खोजते- खोजते मिल गये सुराग

इजराइल के पुरावशेष प्राधिकरण ने बताया कि यह खोज दिखाती है कि यावने बाइजेंटाइन साम्राज्य के दौरान शराब बनाने का बड़ा केंद्र हुआ करता था। शोधकर्ताओं का अनुमान है कि इस परिसर में एक साल में करीब 20 लाख लीटर शराब का उत्पादन होता होगा।

यावने (इजराइल)। इजराइली पुरातत्वविदों ने सोमवार को बताया कि उन्होंने शराब बनाने के एक बड़े प्राचीन परिसर का पता लगाया है जहां करीब 1,500 साल पहले शराब बनायी जाती थी। उन्होंने बताया कि मध्य यावने शहर में इस परिसर में शराब बनाने के गोदामों को पता चला है। शराब का भंडार करने के लिए मिट्टी के बर्तन बनाने वाली भट्टियों और हजारों टुकड़े तथा सुराहियां भी मिली हैं। इजराइल के पुरावशेष प्राधिकरण ने बताया कि यह खोज दिखाती है कि यावने बाइजेंटाइन साम्राज्य के दौरान शराब बनाने का बड़ा केंद्र हुआ करता था।

इसे भी पढ़ें: कानपुर से अखिलेश ने शुरू की विजयरथ यात्रा, कहा- अब भाजपा की सत्ता जाने वाली है

शोधकर्ताओं का अनुमान है कि इस परिसर में एक साल में करीब 20 लाख लीटर शराब का उत्पादन होता होगा। खुदाई के अभियान से जुड़े जॉन सेलिगमन ने कहा कि इस इलाके में बनी शराब को ‘‘गाजा’’ शराब के नाम से जाना जाता था और इसका पूरे क्षेत्र में निर्यात किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: मानवाधिकारों के उल्लंघन के नाम पर देश की छवि को नुकसान पहुंचाने कुछ लोगों की कोशिश : पीएम मोदी

उन्होंने कहा, ‘‘यह मशहूर शराब थी, सफेद रंग की शराब और इसे मिस्र, तुर्की, यूनान और संभवत: दक्षिण इटली समेत भूमध्यसागर के आसपास के कई देशों में भेजा जाता था।’’ प्राधिकरण ने बताया कि तेल अवीव के दक्षिण में स्थित शहर यावने के विकास के तौर पर चल रही खुदाई के दौरान पिछले दो वर्षों में इस परिसर का पता चला।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।