वुहान से लाए गए 18 दक्षिण कोरियाई लोग अस्पताल में भर्ती

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 31, 2020   15:28
वुहान से लाए गए 18 दक्षिण कोरियाई लोग अस्पताल में भर्ती

चीन के वुहान शहर से लाए गए कुल 18 दक्षिण कोरियाई लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण के लक्षण नजर आने के बाद उन्हेंअस्पताल में भर्ती कराया गया है।देश के उप स्वास्थ्य मंत्री किम गांग लिप ने बताया कि इनमें से 18 में लक्षण नजर आने के बाद उन्हें सियोल के दो चिकित्सा केंद्रों में भर्ती कराया गया है।

सियोल। चीन के वुहान शहर से लाए गए कुल 18 दक्षिण कोरियाई लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण के लक्षण नजर आने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सियोल के स्वास्थ्य अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। एसएआरएस जैसे वायरस के बड़े पैमाने पर फैल रहे प्रकोप के चलते दुनिया भर में चिंता का माहौल है। शुक्रवार की सुबह चार्टर्ड विमान से लाए गए 368 दक्षिण कोरियाई नागरिक वुहान से दक्षिण कोरिया पहुंचे। वुहान ही इस वायरस का केंद्र रहा है जो पशु एवं समुद्री खाद्य बाजार से फैलना शुरू हुआ था।

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस की चपेट में आने का संदेह, 6 लोग RML अस्पताल में भर्ती

देश के उप स्वास्थ्य मंत्री किम गांग लिप ने संवाददाताओं को बताया कि इनमें से 18 में लक्षण नजर आने के बाद उन्हें सियोल के दो चिकित्सा केंद्रों में भर्ती कराया गया है। उन्होंने कहा, “अन्य 350 लोग जिनमें लक्षण नजर नहीं आए, वे अगले दो हफ्तों के लिए सियोल के बाहर स्थित अस्थायी केंद्रों में रहेंगे।” लिप ने कहा, “इन 14 दिनों के दौरान, इन लोगों को केंद्र छोड़ने की इजाजत नहीं दी जाएगी और किसी भी बाहरी व्यक्ति के यहां आने पर पूर्ण प्रतिबंध होगा।”

इसे भी पढ़ें: चीन में कोरोना वायरस का तहलका, मृतकों की संख्या हुई 213, आपात स्थिति घोषित

यह घोषणा दक्षिण कोरिया में विषाणु के फैलने को लेकर बढ़ती चिंताओं के बीच आई है जहां शुक्रवार दोपहर तक 11 मामलों की पहचान की गई है। सियोल के स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक इन मामलों में तीन ऐसे लोग शामिल हैं जो चीन गए बिना इस विषाणु से संक्रमित हो गए हैं। आने वाले दिनों में दक्षिण कोरिया का एक और विमान करीब 300 और कोरियाई नागरिकों को लाने वुहान जाएगा।

इसे भी देखें- Coronavirus ने मचाई दुनियाभर में दहशत, क्या है इसके लक्षण और बचाव के उपाय





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।