ब्राजील पुलिस की गोली का शिकार हुई 8 साल की मासूम को लोगों ने दी नम आंखों से अंतिम विदाई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 23, 2019   12:25
ब्राजील पुलिस की गोली का शिकार हुई 8 साल की मासूम को लोगों ने दी नम आंखों से अंतिम विदाई

अंतिम संस्कार के गमगीन माहौल में कुछ लोग हाथों मे तख्ती लिए हुए थे जिनमें लिखा था ‘हमें मारना बंद करो’। ब्राजील पुलिस के बढ़ते बल प्रयोग के प्रति लोगों में आक्रोश है। वहीं अधिकारियों ने अपनी कड़ाई का यह कह कर बचाव किया कि इससे हिंसा अपराधों में कमी आई है

रियो डी जिनेरियो। रियो डी जिनेरियो की झुग्गी बस्ती इलाके में गोली लगने से मारी गई आठ वर्षीय एक बच्ची का रविवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया । स्थानीय लोगों का आरोप है कि वह पुलिस की गोलीबारी में मारी गई। आठ साल की अगाथा सेल्स फेलिक्स के अंतिम संस्कार में सैकडों लोग शामिल हुए। उसे उस वक्त पीछे से गोली मारी गई थी जब वह कॉम्प्लेक्सो डो एलेमाओ झुग्गी बस्ती में एक वैन में चढ़ रही है। 

इसे भी पढ़ें: भूतल में रखे जेनरेटर में विस्फोट से ब्राजील के अस्पताल में लगी आग

अंतिम संस्कार के गमगीन माहौल में कुछ लोग हाथों मे तख्ती लिए हुए थे जिनमें लिखा था ‘हमें मारना बंद करो’। ब्राजील पुलिस के बढ़ते बल प्रयोग के प्रति लोगों में आक्रोश है। वहीं अधिकारियों ने अपनी कड़ाई का यह कह कर बचाव किया कि इससे हिंसा अपराधों में कमी आई है। आठ साल की इस बच्ची की हत्या ने लंबे समय से हिंसा का सामना कर रहे ब्राजील के समाज को झकझोर कर रख दिया है। 

इसे भी पढ़ें: ब्राजील के अस्पताल में दर्दनाक हादसा, आग लगने से 11 लोगों की मौत

देश के न्याय मंत्री सर्जियो मोरो ने कहा कि सरकार हत्याओं को रोकने और‘ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न होने देने’ के लिए कड़े प्रयास कर रही है। वहीं ब्राजील की शीर्ष अदालत के न्यायाधीश गिल्मर मेन्डेज ने ट्विटर पर कहा कि झुग्गी बस्तियों में पुलिस की ऐसी कार्रवाई चिंताजनक है। उन्होंने राजधानी में सुरक्षा नीतियों पर प्रश्न भी उठाया।

इसे भी पढ़ें: ब्राजील के मंत्री ने एमैनुएल मैक्रों की पत्नी का उड़ाया मज़ाक, जानिए क्यों?

स्थानीय निवासियों और फेलिक्स के परिवार ने बच्ची की मौत के लिए स्थानीय पुलिस को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि उन्होंने गोली की केवल एक आवाज सुनी थी। इस पर पुलिस अधिकारियों ने सफाई दी कि उन पर कई तरफ से हमला हुआ और वह जवाब में गोलियां चला रहे थे। हालांकि उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया कि क्या बच्ची उन्हीं की गोली से मारी गई। पुलिस घटना की जांच कर रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।