अब चीन को भी हुआ चौकीदार पर विश्वास, रात में नहीं करनी होगी चौकीदारी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 22, 2019   10:55
अब चीन को भी हुआ चौकीदार पर विश्वास, रात में नहीं करनी होगी चौकीदारी

उन्होंने बताया कि इस रोबोट का दिसंबर 2018 से अप्रैल 2019 तक परीक्षण किया जा रहा है। लियु ने बताया कि बीएएसीआई ने चाइना एकेडमी ऑफ लॉन्च व्हीकल टेक्नोलॉजी की मदद से इसे विकसित किया है।

बीजिंग। चीन की राजधानी बीजिंग में एक आवासीय समुदाय ने अपनी तरह का पहला ‘‘रोबोट चौकीदार’’ तैनात किया है जो लोगों के चेहरे की तस्वीरों को कैद कर सकता है और उनसे बातचीत कर सकता है। इस रोबोट से अब रात में किसी व्यक्ति को चौकीदारी करने की जरुरत नहीं पड़ेगी।

इसे भी पढ़ें: नेपाल-चीन का रिश्ता मजबूत, काठमांडू रोड के 10 KM हिस्से का निर्माण पूरा

बीजिंग एयरोस्पेस ऑटोमैटिक कंट्रोल इंस्टीट्यूट (बीएएसीआई) के परियोजना निदेशक लियु गांगजुन ने चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स को बृहस्पतिवार को बताया कि रोबोट मेईबाओ ना केवल गैरकानूनी गतिविधियों पर नजर रखता है बल्कि बीजिंग में मेईयुआन समुदाय के लोगों को उपयोगी जानकारी भी मुहैया कराता है।

उन्होंने बताया कि इस रोबोट का दिसंबर 2018 से अप्रैल 2019 तक परीक्षण किया जा रहा है। लियु ने बताया कि बीएएसीआई ने चाइना एकेडमी ऑफ लॉन्च व्हीकल टेक्नोलॉजी की मदद से इसे विकसित किया है।

इसे भी पढ़ें: ट्रेड वार खत्म करके अमेरिका से व्यापार समझौता करने का इच्छुक है चीन: ट्रंप

उन्होंने बताया कि अगर सोसायटी में कोई संदिग्ध दिखता है तो मेईबाओ उसे पहचान लेगा और अलार्म बजने लगेगा। उन्होंने बताया कि यह रोबोट मौसम की भविष्यवाणी भी कर सकता है और मजेदार कहानियां तथा गाने भी बजा सकता है जिससे कई बच्चे उससे बात करने के लिए आकर्षित होते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।