भारत के बाद इस देश में देखी जाती है सबसे ज्यादा संख्या में महात्मा गांधी की प्रतिमाएं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 27, 2019   10:50
भारत के बाद इस देश में देखी जाती है सबसे ज्यादा संख्या में महात्मा गांधी की प्रतिमाएं

विख्यात भारतीय अमेरिकी सुभाष राजदान ने बताया, ‘‘भारत से बाहर अमेरिका में सबसे ज्यादा महात्मा गांधी के स्मारक और आवक्ष प्रतिमाएं हैं।’’ गांधी से संबंधित पहला स्मारक केंद्र वाशिंगटन डीसी के मेरीलैंड के बेथिस्डा में स्थित गांधी मेमोरियल सेंटर (गांधी स्मृति केंद्र) में बना था।

वाशिंगटन। महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मनाने के लिए दुनिया भर में तैयारियां शुरू हो चुकी है लेकिन अमेरिका एक ऐसा देश है, जहां भले ही महात्मा गांधी कभी नहीं गए हों लेकिन उनके स्मारक और प्रतिमाएं यहां बड़ी संख्या में लगी हुई हैं और उनके अनुयायियों में यहां के दिग्गज नेता शामिल हैं। हालांकि इन प्रतिमाओं और स्मारकों की संख्या को लेकर कोई आधिकारिक आंकड़ा नहीं है लेकिन पीटीआई ने उपलब्ध स्रोतों के हवाले से जानकारी जुटाई है। यह जानकारी इस ओर संकेत करती है कि अमेरिका में महात्मा गांधी की दो दर्जन से ज्यादा से प्रतिमाएं हैं। यहां एक दर्जन से ज्यादा सोसाइटी और संगठन गांधी से जुड़े हैं।

इसे भी पढ़ें: ट्रम्प पर राष्ट्रीय सुरक्षा उल्लंघन का आरोप, महाभियोग की आधिकारिक प्रक्रिया शुरू

विख्यात भारतीय अमेरिकी सुभाष राजदान ने बताया, ‘‘भारत से बाहर अमेरिका में सबसे ज्यादा महात्मा गांधी के स्मारक और आवक्ष प्रतिमाएं हैं।’’ गांधी से संबंधित पहला स्मारक केंद्र वाशिंगटन डीसी के मेरीलैंड के बेथिस्डा में स्थित गांधी मेमोरियल सेंटर (गांधी स्मृति केंद्र) में बना था। यह अब भी कार्यरत है और गांधी के विचारों और शिक्षा का प्रचार-प्रसार करने में लगा है। वहीं दो अक्टूबर, 1986 में न्यूयॉर्क सिटी के लोकप्रिय यूनियन स्क्वायर पार्क में पहली बार गांधी की इतनी बड़ी प्रतिमा लगी थी।

इसे भी पढ़ें: विदेश मंत्री एस जयशंकर बोले- पाकिस्तान से नहीं लेकिन ''Terroristan'' से बात करने में है समस्या

अटलांटा के द गांधी फाउंडेशन ऑफ यूएसए के अध्यक्ष राजदान अमेरिका में गांधी की कई प्रतिमाओं को स्थापित करने के काम में लगे हुए हैं। उन्हें 2013 में प्रवासी भारतीय सम्मान अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था। प्रतिमाओं के अलावा अमेरिका में बड़ी संख्या में लोग गांधी के अनुयायी हैं। इसमें अश्वेत अधिकारों के लिए काम करने वाले मार्टिन लूथर जूनियर किंग शामिल हैं। वह गांधी की अहिंसा और सत्याग्रह की शिक्षाओं से काफी प्रभावित थे।

इसे भी पढ़ें: इमरान खान बोले- ट्रम्प ने मुझे ईरान और अमेरिका के बीच मध्यस्थता करने को कहा

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा और कई अन्य नेता महात्मा गांधी के विचारों के स्वघोषित अनुयायी रहे हैं। यही वजह है कि भारत से बाहर सबसे ज्यादा संख्या में अमेरिका में गांधी की प्रतिमाएं और स्मारकें हैं। मौजूदा समय में महात्मा गांधी की प्रतिमा सभी मुख्य शहरों में हैं। इसमें वाशिंगटन डीसी भी शामिल है। यहां भारतीय दूतावास के सामने उनकी प्रतिमा है। इसका अनावरण पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने 16 सितंबर, 2000 में किया था।

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान ने 9/11 हमलों के बाद अमेरिका का साथ देकर बड़ी भूल की: इमरान खान

गांधी की आवक्ष प्रतिमा मार्टिन लूथर किंग मेमोरियल सिटी पार्क, डेनवर कोलोराडो; पीस गार्डन, फ्रेस्नो स्टेट यूनिवर्सिटी, फ्रेस्नो कैलिफोर्निया में है। महात्मा गांधी की सात फुट लंबी कांसे की प्रतिमा का डेवी फ्लोरीडा में अनावरण पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम ने 2012 में किया था। वहीं 2017 में इलिनॉयस में महात्मा गांधी की एक आदमकद प्रतिमा लायन्स इंटरनेशनल के मुख्यालय में लगाई गई थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...