Lion एयर विमान हादसे के बाद पायलटों ने बोइंग पर डाला था कार्रवाई का दबाव

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 15 2019 2:20PM
Lion एयर विमान हादसे के बाद पायलटों ने बोइंग पर डाला था कार्रवाई का दबाव
Image Source: Google

इस हादसे में विमान में सवार 189 लोगों की जान चली गई थी। इस साल मार्च में इथियोपियन एयरलाइंस की उड़ान संख्या 302 उड़ान भरने के कुछ ही समय बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। हादसे में सभी 157 लोगों की मौत हो गई थी।

वॉशिंगटन। इंडोनेशिया में पिछले साल हुए विमान हादसे के बाद से ही अमेरिकी एयरलाइन कंपनियों के पायलट बोइंग 737 मैक्स विमान को लेकर चिंतित थे। उन्होंने विमान में सुरक्षा के लिहाज से बदलाव करने के उद्देश्य से बोइंग के अधिकारियों पर दबाव बनाने के लिए बैठक भी की थी। अमेरिकी मीडिया की खबरों से मंगलवार को यह जानकारी सामने आई। पायलटों और विमान - निर्माता कंपनी बोइंग के अधिकारियों के बीच 27 नवंबर को एक बैठक हुई। 

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: इंडोनेशिया में बाढ़ से 29 लोगों की मौत, दर्जनों लापता

अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स और सीबीएस न्यूज ने बैठक की ऑडियो रिकॉर्डिंग के आधार पर खबर दी दै। बैठक से पता चलता है कि इंडोनेशिया में अक्टूबर 2018 में लायन एयर के हादसे के बाद से ही पायलट 737 मैक्स 8 विमान की सुरक्षा को लेकर चिंतित थे। इस हादसे में विमान में सवार 189 लोगों की जान चली गई थी। इस साल मार्च में इथियोपियन एयरलाइंस की उड़ान संख्या 302 उड़ान भरने के कुछ ही समय बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। हादसे में सभी 157 लोगों की मौत हो गई थी। 
इसके बाद दुनिया भर के देशों ने बोइंग 737 मैक्स विमानों के परिचालन पर रोक लगा दी थी और बोइंग को विमान में लगे एंटी - स्टाल प्रणाली की जांच शुरू करने के लिए मजबूर होना पड़ा। विशेषज्ञों का मानना है कि इस प्रणाली में खामी की वजह से ही विमान हादसा हुआ। खबरों के मुताबिक , पायलट विमान में लगे मैनोवरिंग कैरेक्टरस्टिक ऑगमेन्टेशन सिस्टम (एमसीएएस) एंटी - स्टाल प्रणाली को लेकर खासे चिंतित थे। जांचकर्ताओं ने दोनों हादसों के लिए इस प्रणाली को जिम्मेदार ठहराया है। 
एमसीएएस एक स्वचालित सुरक्षा सुविधा है। यह विमान का इंजन बंद होने या गति धीमी होने से रोकने के लिए तैयार किया गया है। बोइंग के उपाध्यक्ष माइक सिनेट ने बैठक में बताया था कि किसी ने भी अभी तक यह निष्कर्ष नहीं निकाला है कि हादसे की एकमात्र वजह हवाई जहाज में लगी यह प्रणाली थी। इथियोपियन एयरलाइंस के हादसे से चार महीने पहले आयोजित बैठक में उन्होंने कहा था  कि सबसे बुरी चीज जो कभी भी हो सकती है, वह इस तरह की त्रासदी है।
बैठक में पायलटों ने कहा कि उन्हें 737 मैक्स 8 विमान में लगी नयी एमसीएएस प्रणाली के बारे में ज्यादा नहीं बताया गया है। लायन एयर के विमान हादसे के बाद, बोइंग ने एमसीएएस की खराबी की स्थिति से निपटने के लिए पायलटों को अतिरिक्त निर्देश जारी किए थे। हालांकि, समाचार एजेंसी एएफपी को मिले पत्र में , पायलट यूनियन के सुरक्षा प्रमुख माइक माइकेलिस ने कहा कि प्रणाली में खराबी से कैसे निपटा जाए, इसे लेकर पायलटों को पर्याप्त निर्देश नहीं दिए गए थे।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप