अल जजीरा के पत्रकार की हत्या का मामला अंतरराष्ट्रीय अपराध अदालत पहुंचा

Al jazeera
प्रतिरूप फोटो
Al Jazeera.com
वकीलों और विभिन्न पैरवी करने वाले समूहों के गठबंधन ने मंगलवार को कहा कि उसने अल जजीरा की महिला पत्रकार शिरीन अबू अकलेह की हत्या का मामला उनके परिवार की ओर से अंतरराष्ट्रीय अपराध अदालत (आईसीसी) के पास भेजा है।

वकीलों और विभिन्न पैरवी करने वाले समूहों के गठबंधन ने मंगलवार को कहा कि उसने अल जजीरा की महिला पत्रकार शिरीन अबू अकलेह की हत्या का मामला उनके परिवार की ओर से अंतरराष्ट्रीय अपराध अदालत (आईसीसी) के पास भेजा है। गठबंधन ने आईसीसी में दी गई अर्जी में अभियोजकों से प्रकरण की जांच करने की मांग की है और दावा किया गया है कि इजराइल ने जानबूझकर अनुभवी पत्रकार की हत्या की।

फलस्तीनी अधिकारियों ने बताया कि अबू अकलेह के परिवार और अल जजीरा ने इजराइल पर जानबूझकर 51 वर्षीय पत्रकार को निशाना बनाने का आरोप लगाया है। उन्होंने बताया कि वेस्टबैंक में इस साल के मई महीने में जब अकलेह को गोली मारी गई तो वह हेलमेट और सुरक्षा जैकेट पहनी हुईं थीं जिसपर स्पष्ट रूप से प्रेस लिखा था। अंतरराष्ट्रीय शोध समूह ने इस गोलीकांड के संबंध में अपनी जांच रिपोर्ट भी प्रस्तुत की है।

इजराइली सैनिक द्वारा कथित तौर पर चलाई गई गोली से अकलेह की मौत हो गई थी। समूह का कहना है कि जिस समय और जहां पर गोली मारी गई है उससे प्रतीत होता है कि यह जानबूझकर की गई हत्या है। इजराइल ने स्वीकार किया है कि संभव है कि उसके सैनिकों की गोली से अबू अकलेह की मौत हुई है, लेकिन उसने जानबूझकर घटना को अंजाम देने के आरोपों से इनकार किया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़