दुबई में भारतीय दंपत्ति ने अपनी मां से की मारपीट, प्रताड़ना के चलते महिला की मौत

an-indian-in-dubai-his-wife-charged-with-harassing-mother
रिपोर्ट के अनुसार, घटना जुलाई 2018 से अक्टूबर 2018 के बीच की है। एक फॉरेंसिक डॉक्टर ने कहा कि बुजुर्ग महिला का मौत के समय वजन मात्र 29 किलोग्राम था। दंपत्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है हालांकि उन्होंने खुद पर लगे आरोपों को खारिज कर दिया।

दुबई। दुबई की एक अदालत में 29 वर्षीय भारतीय और उसकी पत्नी पर उसकी मां के साथ मारपीट का आरोप लगाया गया है। एक मीडिया रिपोर्ट में यह बात कही गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि हमले के चलते महिला की हड्डी और पसली में फ्रैक्चर हो गया, आंतरिक रक्तस्राव हुआ। महिला के शरीर का करीब दस फीसदी हिस्सा जला हुआ भी पाया गया। प्रताड़ना के चलते महिला की मौत हो गई। प्राथमिक सुनवाई में अदालत को बताया गया कि भारतीय और उसकी 28 वर्षीय पत्नी ने कई बार बुजुर्ग महिला को प्रताड़ित किया।

इसे भी पढ़ें: ईस्टर बम धमाके मामले में पांच संदिग्धों को UAE से वापस स्वेदश लाया गया

रिपोर्ट के अनुसार, घटना जुलाई 2018 से अक्टूबर 2018 के बीच की है। एक फॉरेंसिक डॉक्टर ने कहा कि बुजुर्ग महिला का मौत के समय वजन मात्र 29 किलोग्राम था। दंपत्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है हालांकि उन्होंने खुद पर लगे आरोपों को खारिज कर दिया। इस संबंध में अल कुसैस पुलिस थाने में एक मामला दर्ज किया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक मामले का खुलासा 54 वर्षीय पड़ोसी ने किया है जो एक अस्पताल में कर्मचारी है। इस भारतीय गवाह ने अपने अपार्टमेंट में उस व्यक्ति की पत्नी से हुई मुलाकात के बारे में बताया।

इसे भी पढ़ें: दुबई में रघु कृष्णमूर्ति 10 लाख डॉलर की लॉटरी जीतने वाले 143वें भारतीय बने

महिला ने कहा,  वह अपनी बेटी को पकड़े हुए थी। उसने दावा किया था कि उसकी सास भारत से आई है लेकिन उसकी बेटी का ध्यान नहीं रखती जिससे उसकी बेटी अकसर बीमार पड़ जाती है। वह चाहती थी कि उसके काम से वापस लौटने तक मैं उसका ध्यान रखूं। चश्मदीद महिला ने कहा कि करीब तीन दिन बाद उसने एक बुजुर्ग महिला को अपने पड़ोसी की बालकनी में पड़ा पाया। वह लगभग निवस्त्र थीं और उनके शरीर पर जलने के निशान भी थे। ‘‘मैंने चौकीदार को इसकी सूचना दी।’’ महिला के मुताबिक उसने दंपती के घर का दरवाजा भी खटखटाया।

चश्मदीद महिला ने बताया, ‘‘मैंने उनकी मां को फर्श पर पड़ा पाया। उनकी हालत गंभीर थी और उन्हें तुरंत चिकित्सकीय उपचार की आवश्यकता थी। मैंने एंबुलेंस बुलाई। महिला ने कहा,  पति-पत्नी अपने फ्लैट में ही रहे और अपनी मां के साथ नहीं गए। उन्होंने मुझे ही उनके साथ जाने के लिये कहा।अस्पताल के प्रमाणपत्र के अनुसार महिला की 31 अक्टूबर 2018 को मौत हो गई। मामले की सुनवाई 3 जुलाई तक स्थगित कर दी गई है और तब तक पति पत्नी हिरासत में रहेंगे।


यह भी देखें-

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़