रूस और उत्तरी अमेरिका के अंतरिक्ष यात्री धरती पर वापस लौटे

astronauts-of-russia-and-north-america-returned-to-earth
जिसमें वे तीनों कुर्सी पर बैठे दिख रहे थे। ऑलेग कोनोनेंको ने यहां पहुंचने के बाद मजाकिया अंदाज में कहा कि अंतरिक्ष से लौटने के बाद अब वह ‘‘किसी भी तरह के मौसम का सामना करने को तैयार हैं।’’

जेज़काज़्गान। प्रक्षेपण के दौरान हुई एक हालिया दुर्घटना के बाद अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन से पहला चालक दल मंगलवार को धरती पर लौट आया। प्रक्षेपण के दौरान हुए हादसे के बाद रूसी अंतरिक्ष कार्यक्रम की वापसी को लेकर संशय बना हुआ था। नासा के अंतरिक्ष यात्री ऐनी मैकक्लेन, रॉसकॉस्मोस के ऑलेग कोनोनेंको और कनाडा अंतरिक्ष एजेंसी के रिकॉर्ड होल्डर डेविड सेंट-जैक्स अंतरराष्ट्रीय समयानुसार देर रात दो बजकर 47 मिनट कजाख्स्तान पहुंचे।

इसे भी पढ़ें: ईरान ने CIA के लिए जासूसी करने के दोषी ‘‘रक्षा मंत्रालय के ठेकेदार’’ को दी फांसी

नासा टेलीविजन पर इनके उतरने का लाइव प्रसारण किया गया, जिसमें वे तीनों कुर्सी पर बैठे दिख रहे थे। ऑलेग कोनोनेंको ने यहां पहुंचने के बाद मजाकिया अंदाज में कहा कि अंतरिक्ष से लौटने के बाद अब वह ‘‘किसी भी तरह के मौसम का सामना करने को तैयार हैं।’’ 

इसे भी पढ़ें: भारत खुद का अंतरिक्ष स्टेशन तैयार करने की बना रहा है योजना: इसरो प्रमुख

कजाख्स्तान में अभी मौसम गर्म है। अक्टूबर में रूस के एलेक्से ओवचिनिन और अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री निक हेग को ले जा रहे सोयुज रॉकेट में प्रक्षेपण के कुछ ही मिनटों बाद गड़बड़ी आने की वजह से उन्हें आपात स्थिति में उतरना पड़ा था। इसके बाद तीन दिसंबर को पहली बार तीन यात्रियों को अंतरिक्ष में भेजा गया था। सोयुज रॉकेट में आई गड़बड़ी में कोई हताहत नहीं हुआ था और यह सोवियत संघ केदौर के बाद रूसी अंतरिक्ष अभियान से जुड़ी पहली दुर्घटना थी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़