ऑस्ट्रियाई संसदों ने प्राथमिक स्कूलों में ' हेडस्कार्फ' पर पाबंदी लगाया

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 16 2019 10:26AM
ऑस्ट्रियाई संसदों ने प्राथमिक स्कूलों में ' हेडस्कार्फ' पर पाबंदी लगाया
Image Source: Google

मुसलमानों के प्रति भेद भाव पैदा करने के आरोपों से बचने के लिए इस कानून के मूलपाठ में लिखा हुआ है कि वैचारिक या धार्मिक रूप से प्रभावित कपड़े जो सिर ढंकने से जुड़े हैं।

विएना। ऑस्ट्रिया के सांसदों ने बुधवार को एक ऐसे कानून को मंजूरी दी जिसका मकसद प्राथमिक स्कूलों में हेडस्कार्फ (सिर ढकने वाला) को प्रतिबंधित करना है। हालांकि, इस कानून से सिखों का पटका और यहूदियों का किप्पा प्रभावित नहीं होगा। इस कदम का प्रस्ताव सत्तारूढ़ दक्षिण पंथी सरकार ने पेश किया था। मुसलमानों के प्रति भेद भाव पैदा करने के आरोपों से बचने के लिए इस कानून के मूलपाठ में लिखा हुआ है कि वैचारिक या धार्मिक रूप से प्रभावित कपड़े जो सिर ढंकने से जुड़े हैं।

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: व्यापार समझौता नहीं करने से बुरी तरह प्रभावित होगा चीन: ट्रंप

हालांकि गठबंधन सरकार के दोनों धड़ों मध्य-दक्षिणपंथी पीपुल्स पार्टी (ओईवीपी)तथा घोर-दक्षिणपंथी फ्रीडमपार्टी (एफपीओई) के प्रतिनिधियों ने स्पष्ट किया है कि यह कानून इस्लामिक पटके पर केन्द्रित है। एफपीओई शिक्षा प्रवक्ता वेंडिलिन मोइल्जर ने बताया कि यह कानून ‘‘राजनीतिक इस्लाम के खिलाफ चेतावनी है’’ वहीं ओईवीपी सांसद रुडोल्फ शच्नेर ने कहा कि लड़कियों को दमन से मुक्त करने के लिए यह कदम जरूरी था। सरकार का कहना है कि सिख लड़कों द्वारा सिर पर बांधा जाने वाला पटका अथवा यहूदियों का किप्पा इससे प्रभावित नहीं होगा। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप