पाकिस्तान में वर्तमान संकट के लिए बाजवा और फैज जिम्मेदार: नवाज शरीफ

Nawaz Sharif
Google Free License
पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के प्रमुख नवाज शरीफ ने कहा है कि देश में मौजूदा संकट के लिए पाकिस्तानी सेना और खुफिया एजेंसी आईएसआई के पूर्व प्रमुख जिम्मेदार हैं, जिन्होंने 2018 के आम चुनाव में धांधली कर इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार को सत्ता में बैठाया।

लंदन/इस्लामाबाद। पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के प्रमुख नवाज शरीफ ने कहा है कि देश में मौजूदा संकट के लिए पाकिस्तानी सेना और खुफिया एजेंसी आईएसआई के पूर्व प्रमुख जिम्मेदार हैं, जिन्होंने 2018 के आम चुनाव में धांधली कर इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार को सत्ता में बैठाया। जियो न्यूज के अनुसार, पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्व सेनाध्यक्ष जनरल कमर जावेद बाजवा और इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) के पूर्व महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल फैज हामिद ने अपनी निजी इच्छाओं और सनक के चलते पाकिस्तान को संकट में धकेलने का काम किया।

इसे भी पढ़ें: मौजूदा अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था पश्चिमी देशों के हितों के लिए तैयार की गई, एक नयी व्यवस्था की जरूरत

पाकिस्तान के वरिष्ठ पीएमएल-एन नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ बैठक के बाद बृहस्पतिवार को लंदन में शरीफ ने मीडिया से बातचीत में पीएमएल-एन की सार्वजनिक सभा में अपने 2016 के गुजरांवाला भाषण को याद किया, जिसमें उन्होंने सीधे तौर पर आरोप लगाया था कि अधिकारी 2018 में पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) की सरकार बनाने के लिए चुनाव में धांधली करने की साजिश कर रहे हैं। रिपोर्ट के अनुसार, उस समय शरीफ ने सेना के शीर्ष अधिकारियों पर उनकी सरकार को हटाने, इमरान खान को प्रधानमंत्री के रूप में स्थापित करने, मीडिया का मुंह बंद करने, न्यायपालिका पर दबाव बनाने और विपक्षी नेताओं को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। यह पूछे जाने पर कि क्या वह देश की स्थिति के लिए जनरल बाजवा और जनरल फैज को जिम्मेदार ठहराते हैं, शरीफ ने कहा, ‘‘वास्तविकता सबके सामने है। अब कोई नाम या चेहरा छिपा नहीं है। पाकिस्तान को निजी फायदे के लिए इस्तेमाल किया गया। यह देश के साथ किया गया एक क्रूर मजाक था। शरीफ (73) ने कहा, लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) फैज और जनरल (सेवानिवृत्त) बाजवा अपनी निजी इच्छाओं की पूर्ति के लिए यह सब करने के जिम्मेदार हैं।

इसे भी पढ़ें: Republic Day 2023 | गणतंत्र दिवस से पहले दिल्ली पुलिस ने गश्त बढ़ाई, आतंकवाद-रोधी उपायों को मजबूत किया

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के लोग उन दो सेवानिवृत्त जनरलों के चेहरों और चरित्रों से अच्छी तरह वाकिफ हैं, जिनके बारे में माना जाता है कि वे ‘‘तब्दीली’’ परियोजना को लागू करने के पीछे थे, जिसकी कल्पना मूल रूप से पूर्व खुफिया प्रमुख जनरल (सेवानिवृत्त) शुजा पाशा, जनरल (सेवानिवृत्त) जहीर उल-इस्लाम और उनके सहयोगियों ने की थी।डॉन अखबार ने शरीफ के हवाले से कहा, लोगों के खिलाफ की गईं गलत चीजों के बारे में देश को बताना मेरी जिम्मेदारी है और चीजों को सही करना मेरी जिम्मेदारी है। अपनी बेटी एवं पीएमएल-एन की वरिष्ठ उपाध्यक्ष मरियम नवाज तथा पार्टी नेताओं के साथ बैठक के बारे में शरीफ ने कहा कि उन्होंने उनके साथ पाकिस्तान की मौजूदा स्थिति पर चर्चा की। उन्होंने कहा, “इंशाअल्लाह, सब ठीक हो जाएगा। पाकिस्तान मुश्किलों से बाहर निकलेगा और हम सुनिश्चित करेंगे कि ऐसा हो। प्रगति का हमारा ट्रैक रिकॉर्ड गवाह है और यह संभव नहीं है कि हम ऐसा नहीं कर पाएंगे। पीएमएल-एन की बैठक ऐसे समय हुई है, जब पाकिस्तान में पंजाब और खैबर पख्तूनख्वा प्रांतों की विधानसभाएं भंग हो गई हैं। पीटीआई प्रमुख इमरान खान को पागल आदमी करार देते हुए शरीफ ने कहा, (पीटीआई) सरकार के चार साल के दौरान उसके (प्रदर्शन) की तुलना हमारी सरकार के चार साल से करने पर आपको अंतर पता चलने के साथ ही यह भी दिख जाएगा कि कैसे उन्होंने (खान) पाकिस्तान को बर्बाद कर दिया।’’ उन्होंने कहा कि पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) ने पाकिस्तान को इस पागल आदमी से बचाने के लिए अविश्वास प्रस्ताव जीतने के बाद सरकार बना ली, क्योंकि इस आदमी ने पाकिस्तान के लिए विनाशकारी स्थिति पैदा कर दी थी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़