ब्राजील ने निलंबित किया Covaxin के 40 लाख खुराकों का आयात, जानिए क्या है पूरा मामला

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 29, 2021   11:59
ब्राजील ने निलंबित किया Covaxin के 40 लाख खुराकों का आयात, जानिए क्या है पूरा मामला

ब्राजील की राष्ट्रीय स्वास्थ्य निगरानी एजेंसी एन्विजा द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, उसके कॉलेजिएट बोर्ड ने मंगलवार को कोवैक्सीन के आयात और वितरण के लिए असाधारण और अस्थायी अधिकार निलंबित कर दिया।

हैदराबाद। भारत बायोटेक के कोविड-19 रोधी टीके कोवैक्सीन का प्रस्तावित क्लिनिकल ट्रायल और आपात इस्तेमाल अधिकार का अनुरोध निलंबित करने के बाद ब्राजील ने टीके की 40 लाख खुराकों का आयात करने का अपना फैसला निलंबित कर दिया है। ब्राजील की राष्ट्रीय स्वास्थ्य निगरानी एजेंसी एन्विजा द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, उसके कॉलेजिएट बोर्ड ने मंगलवार को कोवैक्सीन के आयात और वितरण के लिए असाधारण और अस्थायी अधिकार निलंबित कर दिया। इससे पहले भारत बायोटेक ने दक्षिण अमेरिका सरकार को अपने ब्राजीलियाई साझेदारों के साथ समझौता समाप्त करने की जानकारी दी थी। एन्विजा ने अपनी वेबसाइट पर एक बयान में कहा, ‘‘एन्विजा के कॉलेजों के बोर्ड ने सर्वसम्मति से मंगलवार को कोविड-19 रोधी टीके कोवैक्सीन के आयात और वितरण के लिए असाधारण और अस्थायी अधिकार निलंबित करने का फैसला किया।’’

इसे भी पढ़ें: लोकसभा में कांग्रेस सदस्यों के कागज उछालने की घटना को लेकर नोकझोंक, कार्यवाही बाधित

भारत बायोटेक ने ब्राजीलियाई बाजार के लिए अपने कोविड-19 रोधी टीके कोवैक्सीन को लेकर प्रेसिसा मेडिकामेन्टोस एंड एन्विक्सिया फार्मास्युटिकल्स एलएलसी के साथ हुए समझौता ज्ञापन को रद्द करने की 23 जुलाई को घोषणा की थी। ब्राजील सरकार के साथ टीकों की दस करोड़ खुराक की आपूर्ति के सौदे के विवाद में आने और ब्राजील में प्राधिकारियों द्वारा जांच शुरू करने के बाद यह समझौता खत्म किया गया। एन्विजा ने कहा, ‘‘यह कदम तब तक प्रभावी रहेगा जब तक हमें यह नयी सूचना नहीं मिल जाती कि आयात के अधिकार को बनाए रखने के फैसले की कानूनी तथा तकनीकी सुरक्षा बरकरार है।’’ भारत बायोटेक ने अपने ब्राजीलियाई साझेदारों के साथ समझौता समाप्त किए जाने की घोषणा करते हुए कहा था कि भारत बायोटेक कोवैक्सीन के लिए नियामक संबंधी मंजूरी की प्रक्रिया पूरी करने के लिए ब्राजीलियाई दवा नियामक संस्था एन्विजा के साथ काम करती रहेगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।