ब्रिटिश प्रधानमंत्री सुनक ने BBC के विवादित वृत्तचित्र को लेकर PM Modi का बचाव किया

Modi and Sunak
प्रतिरूप फोटो
ANI
भारत ने वर्ष 2002 में हुए गुजरात दंगों पर बने बीबीसी के वृतचित्र को ‘दुष्प्रचार का एक हिस्सा’ करार देते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि इसमें पूर्वाग्रह, निष्पक्षता की कमी और औपनिवेशिक मानसिकता स्पष्ट रूप से झलकती है।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक बीबीसी के विवादास्पद वृत्तचित्र को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बचाव में उतरे हैं। बीबीसी के वृतचित्र में दावा किया गया है कि 2002 के गुजरात दंगों में भारतीय नेता की कथित भूमिका के बारे में ब्रिटिश सरकार को पता था। भारत ने वर्ष 2002 में हुए गुजरात दंगों पर बने बीबीसी के वृतचित्र को ‘दुष्प्रचार का एक हिस्सा’ करार देते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि इसमें पूर्वाग्रह, निष्पक्षता की कमी और औपनिवेशिक मानसिकता स्पष्ट रूप से झलकती है।

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने बीबीसी के इस वृतचित्र पर नई दिल्ली में संवाददाताओं के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि यह एक विशेष ‘गलत आख्यान’ को आगे बढ़ाने के लिए दुष्प्रचार का एक हिस्सा है। सुनक से जब यह पूछा गया कि क्या वह बीबीसी के वृत्तचित्र में किये गये दावों से सहमत हैं कि ब्रिटेन के विदेश कार्यालय के कुछ राजनयिक जानते थे कि ‘‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सीधे तौर पर जिम्मेदार थे’’ तो उन्होंने कहा कि वह विपक्षी लेबर पार्टी के सांसद, पाकिस्तानी मूल के इमरान हुसैन द्वारा प्रधानमंत्री मोदी के चरित्र चित्रण से सहमत नहीं हैं। गौरतलब है कि यह वृतचित्र गुजरात में हुए दंगों पर है जब नरेन्द्र मोदी राज्य के मुख्यमंत्री थे। सुनक ने कहा, ‘‘इस संबंध में ब्रिटिश सरकार की स्थिति स्पष्ट है, और यह बिल्कुल भी नहीं बदली है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़