कभी भी आ सकता है ट्रंप के खिलाफ महाभियोग का फैसला, पद से हटेंगे?

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 29, 2020   13:17
कभी भी आ सकता है ट्रंप के खिलाफ महाभियोग का फैसला, पद से हटेंगे?

सीनेट से ट्रम्प को सत्ता के दुरुपयोग संबंधी आरोप से बरी करने का आग्रह करते हुए, व्हाइट हाउस के वकील ने तर्क दिया कि पिछले चुनाव के नतीजे को पलट देना और आगामी चुनाव में ‘‘व्यापक रूप से हस्तक्षेप करना’’ अमेरिका के लोगों के लिए गंभीर और बहुत बड़ा नुकसान होगा।

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग में चल रही सुनवाई में डोनाल्ड ट्रम्प का प्रतिनिधित्व करने वाले वकीलों ने कहा कि राष्ट्रपति के खिलाफ सत्ता के दुरुपयोग संबंधी लगाए गए आरोप ‘‘राजनीतिक रूप से प्रेरित हैं’। बचाव पक्ष के वकीलों ने अपनी शुरुआती दलीलें पूरी कर लीं। ट्रम्प के बचाव दल का नेतृत्व करने वाले, व्हाइट हाउस के वकील पैट सिपोलोन ने मंगलवार को कहा, ‘‘महाभियोग के आरोप किसी भी संवैधानिक मानक को पूरा नहीं करते।’’ उन्होंने कहा कि वे आपको जो करने के लिए कह रहे हैं वह... एक सफल राष्ट्रपति को चुनाव से ठीक पहले, बिना किसी आधार के और संविधान का उल्लंघन कर पद से हटा देना है।’’

इसे भी पढ़ें: बगदाद में रात के समय अमेरिकी दूतावास पर रॉकेट से हमला, एक जख्मी

सीनेट से ट्रम्प को सत्ता के दुरुपयोग संबंधी आरोप से बरी करने का आग्रह करते हुए, व्हाइट हाउस के वकील ने तर्क दिया कि पिछले चुनाव के नतीजे को पलट देना और आगामी चुनाव में ‘‘व्यापक रूप से हस्तक्षेप करना’’ अमेरिका के लोगों के लिए गंभीर और बहुत बड़ा नुकसान होगा। उन्होंने सीनेट में अपनी समापन टिप्पणी में कहा ‘‘सीनेट ऐसा नहीं कर सकती।अब इसके खत्म होने का समय आ चुका है।’’ 

इसे भी पढ़ें: बर्थ टूरिज्म पर डोनाल्ड ट्रंप ने लगाई रोक, जानिए क्या होगा इससे नुकसान

सीनेट में ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग मामले में सुनवाई हो रही है। प्रतिनिधि सभा ने पिछले महीने इस मामले को सीनेट में भेजने के पक्ष में मतदान किया था। अमेरिका के इतिहास में तीसरी बार किसी राष्‍ट्रपति के खिलाफ महाभियोग का मामला चलाया जा रहा है। ट्रंप पर आरोप हैं कि उन्होंने यूक्रेन पर 2020 में राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी के संभावित उम्मीदवार जो बाइडेन और उनके बेटे के खिलाफ भ्रष्टाचार की जांच के लिए दबाव बनाया। बाइडेन के बेटे यूक्रेन की एक ऊर्जा कंपनी में अधिकारी हैं। महाभियोग प्रक्रिया के तहत ट्रंप और यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदीमिर ज़ेलेंस्की के बीच फ़ोन पर हुई बातचीत की जांच की गई और डेमोक्रेटिक पार्टी के नियंत्रण वाली न्यायिक समिति ने औपचारिक आरोप तय किए। 


इसे भी देखें- Donald Trump के खिलाफ क्यों चलाया जा रहा है महाभियोग, अब आगे क्या होगा





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...