क्या कोराना से मिलने वाली है राहत, चीन ने तीसरे टीके के लिए क्‍लीनिकल टेस्‍ट की दी मंजूरी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2020   13:29
क्या कोराना से मिलने वाली है राहत, चीन ने तीसरे टीके के लिए क्‍लीनिकल टेस्‍ट की दी मंजूरी

चीन ने कोविड-19 के तीसरे टीके के लिए क्लिनिकल परीक्षण की मंजूरी दे दी है।सरकारी शिन्हुआ समाचार एजेंसी की खबर के अनुसार वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ बायलॉजिकल प्रोडक्ट्स ने चाइना नेशनल फार्मास्युटिकल ग्रुप (सिनोफार्म) के तहत विकसित अपने टीके का और वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (डब्ल्यूआईवी) ने अपने वैक्सीन का क्लिनिकल परीक्षण शुरू कर दिया है।

बीजिंग। चीन ने कोरोना वायरस के अपने तीसरे टीके के दूसरे चरण के क्लिनिकल ट्रायल को मंजूरी दे दी है। यहां कोविड-19 के 12 नये मामले सामने आने के साथ संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 82,816 हो गई है। चीन ने कोरोना वायरस के तीन टीकों के क्लिनिकल परीक्षण को मंजूरी दी है जिनमें एक को चीन की सेना पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने विकसित किया है। सरकारी शिन्हुआ समाचार एजेंसी की खबर के अनुसार वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ बायलॉजिकल प्रोडक्ट्स ने चाइना नेशनल फार्मास्युटिकल ग्रुप (सिनोफार्म) के तहत विकसित अपने टीके का और वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (डब्ल्यूआईवी) ने अपने वैक्सीन का क्लिनिकल परीक्षण शुरू कर दिया है।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका और चीन में छिड़ी कोरोना वायरस War, माइक पोम्पियो ने कहीं ये बात

डब्ल्यूआईवी पिछले दिनों उस समय विवाद में रहा था जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और शीर्ष अमेरिकी अधिकारियों ने आरोप लगाया था कि वहां से कोरोना वायरस पनपा होगा। अमेरिका ने इस मामले में जांच की मांग की थी। डब्ल्यूआईवी ने आरोपों का खंडन करते हुए कहा था कि ये पूरी तरह मनगढ़ंत हैं। चीन की फार्मास्युटिकल कंपनी सिनोफार्म ने कहा कि क्लिनिकल ट्रायल के पहले चरण में 23 अप्रैल तक तीन अलग-अलग आयुवर्गों के कुल 96 लोगों को टीका लगाया गया है। अब तक टीके के परिणाम सुरक्षित रहे हैं और जिन लोगों पर इसका परीक्षण किया गया है, उन्हें निगरानी में रखा गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।