कोविड के कारण फंसे भारतीय छात्रों का पहला जत्था बहुत जल्द आएगा : चीन

Wang Wenbin
प्रतिरूप फोटो
ANI
चीन ने मंगलवार को कहा कि उसने कोविड-19 संबंधी वीजा प्रतिबंधों के कारण अपने देश में फंसे भारतीय छात्रों की वापसी की प्रक्रिया शुरू कर दी है और पहला जत्था बहुत जल्द यहां आ सकता है। इसके साथ ही हजारों छात्रों के लिए उम्मीद की किरण दिखने लगी है जो वापस आकर आगे की पढ़ाई करना चाहते हैं।

बीजिंग, 10 अगस्त। चीन ने मंगलवार को कहा कि उसने कोविड-19 संबंधी वीजा प्रतिबंधों के कारण अपने देश में फंसे भारतीय छात्रों की वापसी की प्रक्रिया शुरू कर दी है और पहला जत्था बहुत जल्द यहां आ सकता है। इसके साथ ही हजारों छात्रों के लिए उम्मीद की किरण दिखने लगी है जो वापस आकर आगे की पढ़ाई करना चाहते हैं। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने यहां संवाददाताओं से कहा, हम विदेशी छात्रों की चीन में वापसी के लिए व्यापक रूप से काम कर रहे हैं एवं भारतीय छात्रों की वापसी के लिए यह प्रक्रिया शुरू हो गई है।

उनसे सभी विदेशी छात्रों के लिए जल्द ही नयी वीजा नीति शुरु किए जाने के बारे में कुछ चीनी राजनयिकों के सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर सवाल किया गया था। वांग ने कहा, हमें विश्वास है कि हम बहुत जल्दी ही भारतीय छात्रों के पहले जत्थे की वापसी देखेंगे और हम कोविड के खिलाफ सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए संबंधित कदमों के साथ इसे जारी रखेंगे।

यह सवाल किए जाने पर कि लौटने के इच्छुक भारतीय छात्रों के बारे में यहां भारतीय दूतावास द्वारा उपलब्ध कराई गई सूची की प्रक्रिया किस चरण में है, उन्होंने कहा कि संबंधित जानकारी जल्द ही जारी की जाएगी। चीन वर्तमान में अपने कॉलेजों में लौटने के इच्छुक सैकड़ों भारतीय छात्रों की सूची पर गौर कर रहा है। भारत के 23,000 से अधिक छात्र कथित तौर पर कोविड वीजा प्रतिबंधों के कारण अपने ही देश में फंसे हुए हैं और उनमें से ज्यादातर मेडिकल छात्र हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़