600 दिन से घर में क्योंं 'कैद' हैं चीनी राष्ट्रपति, नेताओं से मिलने से कर रहे परहेज, जिनपिंग की तबीयत ज्यादा बिगड़ गई है?

600 दिन से घर में क्योंं 'कैद' हैं चीनी राष्ट्रपति, नेताओं से मिलने से कर रहे परहेज, जिनपिंग की तबीयत ज्यादा बिगड़ गई  है?

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक चीनी राष्ट्रपति काफी लंबे वक्त से किसी विदेशी राजनेता से नहीं मिले हैं। ऐसे किसी विदेशी राजनेता का दौरा नहीं हो रहा है जिनका जिनपिंग से मुलाकात का कार्यक्रम हो। किसी दूसरे देश के नेता चीन आ भी रहे हैं तो बीजिंग को छोड़ दूसरे शहर पहुंच रहे हैं।

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के स्वास्थय को लेकर अटकलों का बाजार गर्म हो गया है। कई मीडिया रिपोर्ट्स में उनकी खराब सेहत की बात कही जा रही है। जिसके पीछे की बड़ी वजह है पिछले 600 दिनों से उनका एक भी विदेश यात्रा पर नहीं जाना। 18 जनवरी 2020 को आखरी बार जिनपिंग म्यांमार के दौरे पर गए थे। इसके बाद से ही विदेशी दौरे के प्रति उनकी उदासीनता सामने आई है। इसके साथ ही कहा ये भी जा रहा है कि जिनपिंग सार्वजनिक कार्यक्रमों में भी मौजूदगी दर्ज कराने से परहेज कर रहे हैं। उन्होंने खुद को वर्चुअल बैठकों तक ही सीमित कर लिया है। 

इसे भी पढ़ें: चीन के BRI से मुकाबले के लिए क्वाड देशों ने बनाई ये योजना, PM मोदी ने SCO की बैठक में रखी मॉडल की रूपरेखा

टेलीफोन वार्ता पर जोर

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक चीनी राष्ट्रपति काफी लंबे वक्त से किसी विदेशी राजनेता से नहीं मिले हैं। ऐसे किसी विदेशी राजनेता का दौरा नहीं हो रहा है जिनका जिनपिंग से मुलाकात का कार्यक्रम हो। किसी दूसरे देश के नेता चीन आ भी रहे हैं तो बीजिंग को छोड़ दूसरे शहर पहुंच रहे हैं। ऐसे में चीन का कोई दूसरा मंत्री उनसे मुलाकात करता है और राष्ट्रपति को उनका सामना नहीं करना पड़ता है। मौजूदा समय में चीनी राष्ट्रपति का ज्यादा जोर टेलीफोन वार्ता पर है। आखिरी विदेश दौरे के बाद से उन्होंने व्लादिमीर पुतिन, एंजेला मर्कैल, इमैनुअल मैक्रो समेत करीब सात राष्ट्राध्यक्षों से फोन पर बात की है। मौजूदा वर्ष में चीनी राष्ट्रपति ने कई अंतरराष्ट्रीय बैठकों में हिस्सा लिया है। लेकिन ये सारी की सारी वर्चुअल बैठके थीं। 

बिना कारण टाली बैठकें 

जिनपिंग नेअमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से फोन पर ही बात की थी। इसी महीने की 9 तारीख को ब्रिक्स देशों की बैठक में भी वो वर्चुअल ही शामिल हुए थे। अगले महीने रोम में हो रहे जी-20 समिट में उनकी व्यक्तिगत उपस्थिति की अभी पुष्टि नहीं हो सकी है। पिछले कुछ समय में चीन के राष्ट्रपति अमेरिकी विदेश मंत्री, सिंगापुर के प्रधानमंत्री और डेनमार्क के प्रधानमंत्री के साथ प्रस्तावित बैठकें स्थगित कर चुके हैं। बिना कोई कारण बताए उनकी तरफ से इस तरह बैठकों को स्थगित किया जाना भी उनकी खराब तबीयत की अटकलों को बल दे रहा है। 

लड़खड़ाते और खांसते नजर आए 

कई मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया कि 2019 में जिनपिंग के इटली, मोनाको और फ्रां दौरे के दौरान खराब सेहत की झलक नजर आई थी। जिसके पीछे ये दलील दी गई कि गार्ड ऑफ ऑनर के निरीक्षण के वक्त जिनपिंग लड़खड़ाते दिखे थें। वहीं फ्रांस के राष्ट्रपति संग वार्ता के दौरान भी बैठने के लिए कुर्सी को पकड़ कर सहारा लिया था। इसके साथ ही इकोनॉमिक जोन की स्थापना कार्यक्रम में उन्हें बार-बार खांसते और पानी पीते नजर आए।