Coronation of Maharaja Charles: राष्ट्रमंडल देशों में सड़कों पर होगा जश्न का आयोजन

Maharaja Charles
प्रतिरूप फोटो
ANI
लंदन के वेस्टमिंस्टर एबे में आयोजित होने वाले राज्याभिषेक समारोह के दौरान 74 वर्षीय महाराजा चार्ल्स तृतीय और उनकी पत्नी एवं महारानी कैमिला की छह मई को औपचारिक रूप से ताजपोशी की जाएगी। इस समारोह के जश्न में लाखों लोगों के शामिल होने की उम्मीद है।

लंदन। बकिंघम पैलेस ने रविवार को ब्रिटेन के महाराजा चार्ल्स तृतीय के मई में होने वाले भव्य राज्याभिषेक समारोह की रविवार को विस्तृत जानकारी मुहैया कराई, जिसके तहत ब्रिटेन और राष्ट्रमंडल देशों में सड़कों पर कई जश्न आयोजित किए जाएंगे। लंदन के वेस्टमिंस्टर एबे में आयोजित होने वाले राज्याभिषेक समारोह के दौरान 74 वर्षीय महाराजा चार्ल्स तृतीय और उनकी पत्नी एवं महारानी कैमिला की छह मई को औपचारिक रूप से ताजपोशी की जाएगी। इस समारोह के जश्न में लाखों लोगों के शामिल होने की उम्मीद है। इसके अलावा जश्न के तहत विंडसर कैसल में एक बड़ा संगीत कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा, जिसमें दुनिया भर की संगीत जगत की नामी हस्तियां भाग लेंगी।

ब्रिटेन की डिजिटल, संस्कृति, मीडिया एवं खेल मंत्री मिशेल डोनेलन ने कहा, ‘‘महामहिम महाराजा और उनकी पत्नी एवं महारानी का राज्याभिषेक ब्रिटेन और राष्ट्रमंडल देशों के इतिहास में एक मील का पत्थर है।’’ डोनेलन ने कहा, ‘‘सप्ताहांत में होने वाले समारोह लोगों को हमारी राजशाही और परंपरा एवं आधुनिकता, संस्कृति और समुदाय के मेल का जश्न मनाने के लिए साथ लाएंगे, जिससे हमारा देश महान बनता है।’’ राज्याभिषेक के बाद शाही परिवार बकिंघम पैलेस की बालकनी में एकत्र होकर भीड़ का अभिवादन करेगा। विभिन्न रिपोर्ट के अनुसार, राज्याभिषेक के दौरान प्रार्थना में विभिन्न आस्थाओं को स्थान दिया जाएगा और विभिन्न धर्मों के प्रतिनिधि इसमें शामिल होंगे।

इसे भी पढ़ें: Syria के अलेप्पो शहर में इमारत गिरने से 10 लोगों की मौत

पैलेस ने कहा कि इस ‘‘अद्वितीय और ऐतिहासिक अवसर’’ का अनुभव करने के लिए हजारों लोग लंदन आएंगे और लाखों लोग अपने घर पर कार्यक्रम देखेंगे। समारोह आठ मई यानी सोमवार को ‘बिग हेल्प आउट’ के साथ समाप्त होगा। इस दिन प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने अवकाश घोषित किया है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य ब्रिटेन के समुदायों पर स्वैच्छिक सेवा के सकारात्मक प्रभाव को उजागर करना है। चार्ल्स सितंबर में अपनी मां महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन के बाद ब्रिटेन के महाराजा घोषित किए गए थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़