अस्पताल में भर्ती कोरोना वायरस के सभी मरीजों को दी जा सकती है रेमडेसिविर दवा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 29, 2020   15:43
अस्पताल में भर्ती कोरोना वायरस के सभी मरीजों को दी जा सकती है रेमडेसिविर दवा

रेमडेसिविर दवा अस्पताल में भर्ती कोविड-19 के सभी मरीजों को दी जा सकती है।गिलियड के अध्ययन में पाया गया कि कोविड-19 से ग्रस्त जिन मरीजों को पांच दिन तक रेमडेसिविर दवा दी गई उनमें ठीक होने की संभावना 65 प्रतिशत अधिक थी।

फोस्टर सिटी (अमेरिका)। अमेरिका की नियामक संस्था ने अस्पताल में भर्ती कोविड-19 के सभी मरीजों को रेमडेसिविर दवा देने की अनुमति दे दी है। दवा निर्माता ‘गिलियड साइंसेज’ ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। कंपनी ने कहा कि ‘खाद्य एवं दवा प्रशासन’ (एफडीए) ने आपातकालीन परिस्थिति में रेमडेसिविर के प्रयोग का दायरा बढ़ा दिया है जिससे डॉक्टर मरीजों को इसे लेने की सलाह दे सकेंगे। अब तक यह दवा कोविड-19 के गंभीर मरीजों को ही दी जाती थी। कैलिफोर्निया में फोस्टर सिटी स्थित गिलियड ने रेमडेसिविर को ‘वेक्लुरि’ नाम से बेचने की औपचारिक मंजूरी के लिए 10 अगस्त को एफडीए में आवेदन किया था।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका के दबाव में UN ने लेबनान में शांतिरक्षकों की संख्या घटाने की दी मंजूरी

गिलियड ने एक वक्तव्य में कहा कि अस्पताल में भर्ती मरीजों पर हाल ही में हुए एक सरकारी अध्ययन और गिलियड द्वारा एक सप्ताह पहले प्रकाशित अध्ययन के आधार पर आपातकालीन परिस्थिति में इस दवा के प्रयोग के दायरे को बढ़ाने की मंजूरी मिली। गिलियड के अध्ययन में पाया गया कि कोविड-19 से ग्रस्त जिन मरीजों को पांच दिन तक रेमडेसिविर दवा दी गई उनमें ठीक होने की संभावना 65 प्रतिशत अधिक थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।