भीषण भूकंप के झटकों से दहला जापान, एक की मौत, हजारों लोग फंसे

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 18 2018 11:02AM
भीषण भूकंप के झटकों से दहला जापान, एक की मौत, हजारों लोग फंसे
Image Source: Google

जापान के पश्चिमी शहर ओसाका में आज सुबह भीषण भूकंप में नौ वर्षीय बच्ची की मौत हो गई और एक अन्य की मौत की आशंका है। भूकंप की तीव्रता 5.3 मापी गई।

तोक्यो। जापान के पश्चिमी शहर ओसाका में आज सुबह भीषण भूकंप में नौ वर्षीय बच्ची की मौत हो गई और एक अन्य की मौत की आशंका है। भूकंप की तीव्रता 5.3 मापी गई। भूकंप से फिलहाल किसी बड़े नुकसान की सूचना नहीं है और न ही सुनामी की कोई चेतावनी जारी की गई है। लेकिन दैनिक कामकाज के लिए निकले हजारों लोग लोग फंस गए हैं और हजारों लोग बिना बिजली के रह रहे हैं। स्थानीय पुलिस ने बताया कि तकातसुकी शहर में नौ साल की एक बच्ची की मौत हो गई। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार भूकंप से स्कूल की दीवार ढ़ह गई और बच्ची मलबे में दब गई। 

सरकारी प्रसारक ‘एनएचके’ ने कहा कि दीवार गिरने से एक बुजुर्ग के भी मारे जाने की आशंका है। प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने संवाददाताओं से कहा कि ‘‘ सरकार एकजुट हो कर लोगों की जान बचाने के प्रमुख लक्ष्य के साथ काम कर रही है।’’ उन्होंने कहा कि उन्होंने अपने स्टाफ को नुकसान की जानकारी तेजी से जुटाने तथा लोगों को बचाने के लिए पूरे प्रयास करने .... तथा जनता को समयवार तथा उपयुक्त जानकारी देने के निर्देश दिए हैं। एनएचके की ओर से जारी तस्वीरों में ओसाका के उत्तर में स्थित एक मकान में लगी आग को बुझाने की मश्क्कत करते हुए अग्निशामकों को देखा जा सकता है। 
 
सोशल मीडिया में तस्वीरों में प्लेटफॉर्म में इलेक्ट्रॉनिक ट्रेन एनाउंसमेंट बोर्ड टूटे पड़े तथा एक टिकट काउंटर में टूटा हुआ कांच दिखाई दे रहा है। भूकंप सुबह आठ बजे आया। सुबह के इस अति व्यस्त समय में आए भूकंप के दौरान बड़ी सख्या में लोग प्लेटफॉर्म में मौजूद थे। बड़ी संख्या में ट्रेनों को रद्द किया गया जिसमें बुलेट ट्रेन ‘‘शिन्कान्सेन’’ भी शामिल है। वहीं परमाणु नियामक प्राधिकार ने कहा कि उसके क्षेत्र के किसी भी परमाणु ऊर्जा संयंत्र में किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं मिली है। भूकंप के बाद भी लोगों को हल्के झटके महसूस होते रहे जिसके बाद जापान की मौसम विज्ञान एजेंसी ने लोगों को भूतल पर ही रहने को कहा है। एजेंसी के अधिकारी तोशीयूकी मात्सुमोरी ने कहा, ‘‘गहरे भूकंप के झटके वाले क्षेत्रों में मकानों के गिरने तथा भूस्खलन के खतरे की आशंका है।’’ 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप