मैंने सत्ता प्रतिष्ठान में मौजूद लोगों के नंबर ‘ब्लॉक’ किए : इमरान खान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 15, 2022   10:58
मैंने सत्ता प्रतिष्ठान में मौजूद लोगों के नंबर ‘ब्लॉक’ किए : इमरान खान
ANI Photo.

उल्लेखनीय है कि इमरान को संसद में अविश्वास प्रस्ताव के जरिये पदच्युत किया गया था। इसके साथ ही वह पाकिस्तान के पहले प्रधानमंत्री बन गए हैं जिन्हें संसद में अविश्वास मत के जरिये हटाया गया है। खान ने लोगों से संघीय राजधानी (इस्लामाबाद) के लिए ‘‘ऐतिहासिक मार्च’’करने के वास्ते तैयार रहने का आह्वान किया।

इस्लामाबाद|  पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने दावा किया है कि सत्ता प्रतिष्ठान के लोग उन्हें फोन कर रहे हैं लेकिन उन्होंने उनके नंबर ‘ब्लॉक’ कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि वह आम चुनाव की घोषणा होने तक उनसे बात नहीं करना चाहते हैं। इमरान ने तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि ‘‘इन अपराधियों को सत्ता में रहने देने की तुलना में पाकिस्तान पर परमाणु बम गिरा देना कहीं ज्यादा बेहतर है।’’

उल्लेखनीय है कि इमरान को संसद में अविश्वास प्रस्ताव के जरिये पदच्युत किया गया था। इसके साथ ही वह पाकिस्तान के पहले प्रधानमंत्री बन गए हैं जिन्हें संसद में अविश्वास मत के जरिये हटाया गया है। खान ने लोगों से संघीय राजधानी (इस्लामाबाद) के लिए ‘‘ऐतिहासिक मार्च’’करने के वास्ते तैयार रहने का आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि ‘‘ जब लोग सड़कों पर उतरेंगे तो कई विकल्प खुल जाएंगे।’’ पाकिस्तान के अखबार डॉन ने खान के हवाले से लिखा, ‘‘सत्ता प्रतिष्ठान से संदेश आ रहे हैं। लेकिन मैं किसी से तब तक बात नहीं करूंगा, जब तक आम चुनावों की घोषणा नहीं हो जाती।’’

खान ने कहा कि उन्होंने ‘‘उनके नंबर ब्लॉक कर दिए हैं।’’ इमरान खान लगातार आरोप लगा रहे हैं कि अमेरिका ने विपक्ष के साथ मिलकर उनकी सरकार को पदच्युत करने के लिए षडयंत्र रचा।

जियो न्यूज चैनल की खबर के अनुसार, खान ने लोगों से पूछा कि जिन्होंने ‘‘षडयंत्र’’ का समर्थन किया, क्या वे पाकिस्तान के भविष्य को लेकर चिंतित हैं? उन्होंने कहा, ‘‘इन अपराधियों को सत्ता में रहने देने की तुलना में पाकिस्तान पर परमाणु बम गिरा देना कहीं ज्यादा बेहतर है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...