एक फोन के लिए तरसते रहे इमरान, अब शाहबाज शरीफ की फेस-टू-फेस होगी बाइडेन से मुलाकात

Shahbaz Sharif
creative common
अभिनय आकाश । Sep 20, 2022 6:13PM
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के फोन के इंतजार करते-करते सत्ता से रुकसत हो गए। लेकिन अब पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ की जो बाइडेन से सीधी मुलाका होने वाली है।

20 जनवरी, 2021 को अमेरिकी राष्ट्रपति के पर काबिज होने के बाद से जो बाइडेन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित विश्व के कई नेताओं को फोन किया। हालांकि, उन्होंने पाकिस्तान के पीएम से कभी कोई संपर्क नहीं किया। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के फोन के इंतजार करते-करते सत्ता से रुकसत हो गए। लेकिन अब पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ की जो बाइडेन से सीधी मुलाका होने वाली है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ के अगले सप्ताह संयुक्त राष्ट्र महासभा के 77वें सत्र में भाग लेने के लिए न्यूयॉर्क यात्रा के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से मिलने की संभावना है।

इसे भी पढ़ें: चीन को पाकिस्तान सबसे खास दोस्त समझता है, मगर वही सबसे बड़ा नुकसान कर रहा है

एक मीडिया रिपोर्ट में शनिवार को यह जानकारी दी गई। सरकारी रेडियो पाकिस्तान की खबर के अनुसार शरीफ 20 सितंबर से शुरू हो रहे संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र में भाग लेने के लिए शनिवार को लंदन होते हुए अमेरिका के लिए रवाना हो गए। पांच दिवसीय यात्रा पर अमेरिका के लिए प्रस्थान करेंगे, जिसके दौरान वह अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) और विश्व बैंक (डब्ल्यूबी)के साथ बैठकें भी करेंगे। पाकिस्‍तानी अखबार द एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍यून की रिपोर्ट के मुताबिक बाइडन और शहबाज के बीच कोई द्विपक्षीय बैठक भले न हो लेकिन रिसेप्‍शन के दौरान दोनों नेताओं के बीच अनौपचारिक बातचीत होगी। बाइडन के सत्‍ता में आने के बाद यह किसी पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री से उनका पहला संवाद होगा।

इसे भी पढ़ें: अभिनंदन ने मार गिराया था पाक का F-16, वो मिग-21 होंगे रिटायर

पैसों की तंगी से जूझ रहा पाकिस्तान अपनी आर्थिक तंगी से उबरने के लिए करीबी सहयोगियों से मदद मांग रहा है. पिछले महीने, आईएमएफ ने पाकिस्तान के लिए 1.1 बिलियन अमरीकी डालर के बेलआउट पैकेज को मंजूरी दी थी। आईएमएफ ने पाकिस्तान को 1.1 बिलियन अमरीकी डालर से अधिक के संवितरण को मंजूरी दे दी है, जिससे एक गंभीर आर्थिक संकट और विनाशकारी बाढ़ के बावजूद डिफ़ॉल्ट रूप से रोकने में मदद करने के लिए रुके हुए 7 बिलियन अमरीकी डालर के सहायता पैकेज को पुनर्जीवित करने की उम्मीद है।

अन्य न्यूज़