जंगली देश बनने के कगार पर पाकिस्तान, हजारों की भीड़ ने श्रीलंकाई नागरिक को लिचिंग के बाद खुलेआम जलाया

जंगली देश बनने के कगार पर पाकिस्तान, हजारों की भीड़ ने श्रीलंकाई नागरिक को लिचिंग के बाद खुलेआम जलाया

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार श्रीलंकाई नागरिक को लिचिंग के बाद जिंदा जलाया गया है। बताया जा रहा है कि श्रीलंकाई शख्स से धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में इस तरह की बर्बरता की गई है। ये हिंसक घटना सियालकोट के वजीराबाद रोड पर घटित हुई है।

पाकिस्तान के सियालकोट से हैरान करने वाली खबर सामने आई है। पाकिस्तान में श्रीलंका के नागरिक को जिंदा जला दिया गया है। मारा गया श्रीलंकाई नागरिक एक कंपनी का जनरल मैनेजर बताया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार श्रीलंकाई नागरिक को लिचिंग के बाद जिंदा जलाया गया है। बताया जा रहा है कि श्रीलंकाई शख्स से धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में इस तरह की बर्बरता की गई है। ये हिंसक घटना सियालकोट के वजीराबाद रोड पर घटित हुई है। कहा जा रहा है कि कारखाने पर इस्लामिक भीड़ ने कंपनी के एक्सपोर्ट मैनेजर पर हमला कर दिया। उसे बुरी तरह मारा-पीटा गया। इतने से ही मन नहीं भड़ा तो हैवानों ने उस श्रीलंकाई शख्स को आग के हवाले कर दिया। 

सियालकोट के जिला पुलिस अधिकारी उमर सईद मलिक ने कहा कि पीड़ित का नाम प्रियंता कुमारा था और वो श्रीलंका का रहने वाला था, जिसकी हत्या की जा चुकी है।पंजाब पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि यहां से करीब सौ किलोमीटर दूर सियालकोट जिले की एक फैक्टरी में करीब 40 वर्षीय प्रियंता कुमारा महाप्रबंधक के तौर पर काम करते थे। अधिकारी ने बताया, ‘‘कुमारा ने कट्टरपंथी तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) के एक पोस्टर को कथित तौर पर फाड़ दिया जिसमें कुरान की आयतें लिखी थीं और फिर उसे कचरे के डिब्बे में फेंक दिया। 

‘‘ईशनिंदा’’ की घटना को लेकर आसपास के इलाकों से सैकड़ों लोग फैक्टरी के बाहर इकट्ठा होने लगे।  सोशल मीडिया पर कई वीडियो जारी हुए जिसमें दिख रहा है कि श्रीलंकाई नागरिक के शव को घेरे सैकड़ों लोग खड़े हैं। वे टीएलपी के समर्थन में नारे लगा रहे थे। भीड़ में मौजूद सैकड़ों लोगों को श्रीलंकन नागरिक को पकड़कर पीटते हुए देखा जा रहा है।&