भारत ने की अपने पड़ोसी देश म्यानमार की मदद, सौंपी ‘रेमडेसिवीर’ दवा की 3000 से अधिक शीशियां

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 5, 2020   16:37
  • Like
भारत ने की अपने पड़ोसी देश म्यानमार की मदद, सौंपी ‘रेमडेसिवीर’ दवा की 3000 से अधिक शीशियां
Image Source: Google

भारतीय दूतावास ने ट्वीट किया भारतीय सेना प्रममुख और विदेश सचिव ने म्यामां में भारत के राजदूत सौरभ कुमार के साथ सोमवार को सू ची के साथ मुलाकात की औरमहत्वपूर्ण द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की।ट्वीट में कहा,कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में मित्रवत पड़ोसी म्यामां की मदद करने के लिए भारत से सू ची को‘रेमडेसिवीर’दवा की 3000 से अधिक शीशियां सौंपी।

ने पी ता।अपने पड़ोसी देश की कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में मदद करने के लिए सेना प्रमुख जनरल एम. एमँ नरवणे और विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने सोमवार को म्यामां की नेता आंग सान सू ची को ‘रेमडेसिवीर’ दवा की 3000 से अधिक शीशियां सौंपी। जनरल नरवणे और श्रृंगला रविवार को दो दिन की म्यामां यात्रा पहुंचे, जिसका उद्देश्य रक्षा और सुरक्षा समेत अनेक क्षेत्रों में संबंधों का और विस्तार करना है। भारतीय दूतावास ने ट्वीट किया भारतीय सेना प्रममुख और विदेश सचिव ने म्यामां में भारत के राजदूत सौरभ कुमार के साथ सोमवार को सू ची के साथ मुलाकात की और महत्वपूर्ण द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की। उसने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘ कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में मित्रवत पड़ोसी म्यामां की मदद करने के लिए भारत से सू ची को‘रेमडेसिवीर’ दवा की 3000 से अधिक शीशियां सौंपी।’’

इसे भी पढ़ें: अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट के एक नए दौर की शुरुआत, रुढ़िवादियों के बहुमत की उम्मीद

‘रेमडेसिवीर’ का इस्तेमाल कोविड-19 के इलाज के लिए किया जाता है। कोरोना वायरस से संक्रमित अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को भी यही दवा दी जा रही है। जनरल नरवणे और श्रृंगला का दौरा ऐसे समय में महत्वपूर्ण माना जा रहा है जब भारतीय सेना का पूर्वी लद्दाख में चीन की सेना के साथ सीमा पर गतिरोध जारी है तथा कोरोना वायरस महामारी के बीच विदेश यात्राओं पर पाबंदी भी लगी हुई है। यह जनरल नरवणे की पिछले साल 31 दिसम्बर को सेना प्रमुख के रूप में कामकाज संभालने के बाद पहली विदेश यात्रा होगी। म्यामां, भारत के रणनीतिक पड़ोसी देशों में से एक है जो उग्रवाद प्रभावित नगालैंड और मणिपुर समेत उत्तर पूर्व के कई राज्यों के साथ 1,640 किलोमीटर लंबी सीमा साझा करता है।







बाइडेन ने येलेन को वित्त और भारतीय मूल की नीरा टंडन को दी ये अहम जिम्मेदारी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 1, 2020   08:23
  • Like
बाइडेन ने येलेन को वित्त और भारतीय मूल की नीरा टंडन को दी ये अहम जिम्मेदारी
Image Source: Google

बाइडेन ने येलेन को वित्त मंत्री और भारतीय-अमेरिकी नीरा टंडन को ओएमबी निदेशक पद के लिए नामित किया। 74 साल की येलन 231 साल के इतिहास में वित्त मंत्रालय का नेतृत्व करने वाली पहली महिला होंगी. वहीं नीरा टंडन ओएमबी की प्रमुख बनने वाली पहली अश्वेत महिला होंगी।

वाशिंगटन। अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन ने सोमवार को वित्त मंत्री के पद के लिए जेनेट येलेन को और व्हाइट हाउस के शीर्ष पद ‘प्रबंधन एवं बजट कार्यालय’ निदेशक के रूप में भारतीय-अमेरिकी नीरा टंडन को नामित किया। अगर अमेरिकी सीनेट से इसकी पुष्टि हो जाती है तो 74 वर्षीय येलन 231 साल के इतिहास में वित्त मंत्रालय का नेतृत्व करने वाली पहली महिला होंगी।

इसे भी पढ़ें: ट्रंप प्रचार अभियान के पूर्व सहयोगी ने रूस जांच निगरानी मामले में वाद दायर किया

वहीं अगर अमेरिकी सीनेट में इस पद के लिए टंडन (50) के नाम की पुष्टि हो जाती है, तो वह व्हाइट हाउस में प्रभावशाली ‘प्रबंधन और बजट कार्यालय’ (ओएमबी) की प्रमुख बनने वाली पहली अश्वेत महिला होंगी। टंडन वर्तमान में वामपंथी झुकाव वाले ‘सेंटर फॉर अमेरिकन प्रोग्रेस’ की मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।







मरयम नवाज ने ‘‘कठपुतली’’ इमरान खान को लताड़ा, फोन टैपिंग को लेकर कहीं ये बात

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 30, 2020   18:01
  • Like
मरयम नवाज ने ‘‘कठपुतली’’ इमरान खान को लताड़ा, फोन टैपिंग को लेकर कहीं ये बात
Image Source: Google

पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज की उपाध्यक्ष मरयम नवाज ने कहा कि हिम्मत है तो फोन टैपिंग पर आईएसआई से सवाल करें ‘कठपुतली’ प्रधानमंत्री इमरान खान।पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पुत्री ने कहा, ‘‘इस कठपुतली और चयनित प्रधानमंत्री इमरान में आईएसआई से यह तक पूछने की हिम्मत नहीं है कि वह उनके फोन क्यों टैप कर रही है।

लाहौर। पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) की उपाध्यक्ष मरयम नवाज ने सोमवार को कहा कि पाकिस्तान के ‘‘कठपुतली’’ प्रधानमंत्री इमरान खान अपने फोन टैप किए जाने पर देश की खुफिया एजेंसी आईएसआई से सवाल करने का ‘‘कुछ साहस’’दिखाएं। उनकी टिप्पणी प्रधानमंत्री के इस खुलासे के बाद आई है कि वह जानते हैं कि एजेंसियां उनके फोन टैप कर रही हैं। पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पुत्री ने कहा, ‘‘इस कठपुतली और चयनित प्रधानमंत्री इमरान में आईएसआई से यह तक पूछने की हिम्मत नहीं है कि वह उनके फोन क्यों टैप कर रही है। उन्हें आईएसआई से कहना चाहिए कि यह प्रधानमंत्री के अधीन आने वाले संस्थान का काम नहीं है।’’

इसे भी पढ़ें: बाइडेन की टीम में शामिल हो सकती है एक और भारतीय, जानिए कौन है नीरा टंडन?

उन्होंने कहा, ‘‘आईएसआई प्रधानमंत्री और उनके फोन टैप करती है। यह मेरे लिए खबर नहीं है। यदि इस कठपुतली (इमरान खान) में थोड़ी भी हिम्मत है तो उन्हें इस मुद्दे पर आईएसआई को फटकार लगानी चाहिए।’’ खान ने हाल में एक स्थानीय टीवी चैनल से कहा था, ‘‘मैं जो करता हूं और फोन पर किससे बात करता हूं, आईएसआई और आईबी (खुफिया ब्यूरो) इस बारे में जानते हैं।’’ यह पूछे जाने पर कि क्या उनका फोन टैप किया जाना उनके लिए कोई मुद्दा नहीं है, खान ने कहा था कि यह पूरी दुनिया में होता है। यहां तक कि अमेरिका में सीआईए भी यही करती है।







कुत्ते के साथ खेलते वक्त चोटिल हुए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 30, 2020   16:26
  • Like
कुत्ते के साथ खेलते वक्त चोटिल हुए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन
Image Source: Google

अमेरिका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडनअपने कुत्ते के साथ खेलते हुए चोटिल हो गए।बाइडन का उपचार कर रहे डॉ. केविन ओकोन्नोर ने रविवार को कहा, ‘‘शुरुआती एक्स-रे में किसी तरह का फ्रैक्चर पता नहीं चला। लेकिन क्लिनिकल जांच में गहराई से देखने की जरूरत लगी।

वाशिंगटन। अमेरिका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के एक पैर में मामूली फ्रैक्चर हुआ है और उन्हें चलने के लिए अब कई हफ्तों तक ‘वॉकिंग बूट’ की जरूरत पड़ेगी। उनके चिकित्सक ने यह जानकारी दी। शनिवार को अपने पालतू कुत्ते ‘मेजर’ के साथ खेलते वक्त बाइडन का पैर फिसलने से उनका टखना मुड़ गया था। बाइडन ने गत 20 नवंबर को अपना 78वां जन्मदिन मनाया और वह अमेरिकी इतिहास के सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति बनने जा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: बाइडेन की टीम में शामिल हो सकती है एक और भारतीय, जानिए कौन है नीरा टंडन?

बाइडन का उपचार कर रहे डॉ. केविन ओकोन्नोर ने रविवार को कहा, ‘‘शुरुआती एक्स-रे में किसी तरह का फ्रैक्चर पता नहीं चला। लेकिन क्लिनिकल जांच में गहराई से देखने की जरूरत लगी।’’ जीडब्ल्यू मेडिकल फैकल्टी एसोसिएट्स में निदेशक ओकोन्नोर ने बाइडन की जांच के परिणामों को देखने के बाद बताया, ‘‘बाद के सीटी स्कैन से नव-निर्वाचित राष्ट्रपति बाइडन के पैर के बीच में मामूली फ्रैक्चर का पता चला। अगले कई हफ्तों तक उन्हें चलने के लिए वॉकिंग बूट की जरूरत पड़ सकती है।’’ राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार शाम को ट्वीट कर बाइडन के जल्द स्वस्थ होने की कामना की। बाइडन का पिछला स्वास्थ्य रिकॉर्ड डॉ ओकोन्नोर ने दिसंबर 2019 में जारी किया था।

इसे भी पढ़ें: ट्रंप प्रचार अभियान के पूर्व सहयोगी ने रूस जांच निगरानी मामले में वाद दायर किया

डॉक्टर ने कहा था कि बाइडन राष्ट्रपति बनने के लिहाज से स्वस्थ और तंदुरुस्त हैं। स्वास्थ्य रिपोर्ट के अनुसार बाइडन तंबाकू या शराब का सेवन नहीं करते और सप्ताह में पांच दिन व्यायाम करते हैं। वह एसिड रिफ्ल्क्स, कॉलेस्ट्रॉल और मौसमी एलर्जी जैसी समस्याओं के लिए ब्लड थिनर और अन्य दवाएं लेते हैं। बाइडन ने 2018 में मेजर को अपनाया था जो जर्मन शेफर्ड नस्ल का कुत्ता है। उनके पास चैंप नाम का एक और जर्मन शेफर्ड कुत्ता है जिसे उन्होंने 2008 में राष्ट्रपति चुनाव के बाद अपनाया था। बाइडन दंपती ने कहा है कि उनकी दोनों कुत्तों को व्हाइट हाउस ले जाने की योजना है।