भारत का रूस से एस-400 प्रणाली लेना अमेरिका के लिये ‘समस्या’ : पीएसीओएम कमांडर

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 20 2019 6:44PM
भारत का रूस से एस-400 प्रणाली लेना अमेरिका के लिये ‘समस्या’ : पीएसीओएम कमांडर
Image Source: Google

हिंद प्रशांत कमान के कमांडर एडमिरल फिलिप डेविडसन ने कोलाराडो में एस्पन सिक्योरिटी फोरम को बताया, “भारत एस-400 हासिल कर रहा है। यह रूस की वायु रक्षा प्रणाली है। यह थोड़ी समस्या है। लेकिन हम बातचीत जारी रखेंगे।

वाशिंगटन।अमेरिका के एक सर्वोच्च कमांडर ने कहा कि भारत का रूस से एस-400 मिसाइल रक्षा प्रणाली हासिल करना अमेरिका के लिए एक “समस्या” है और कहा कि वाशिंगटन इस मुद्दे पर भारत के साथ बातचीत करता रहेगा। भारत ने रूस के साथ पिछले साल अक्टूबर में एक समझौता किया था जिसके तहत 40 हजार करोड़ की लागत से एस-400 मिसाइल प्रणाली ली जानी है। 

इसे भी पढ़ें: पीयूष गोयल बोले, देश में बीते छह साल के दौरान विदेशी निवेश 79 फीसदी बढ़ा

हिंद प्रशांत कमान के कमांडर एडमिरल फिलिप डेविडसन ने कोलाराडो में एस्पन सिक्योरिटी फोरम को बताया, “भारत एस-400 हासिल कर रहा है। यह रूस की वायु रक्षा प्रणाली है। यह थोड़ी समस्या है। लेकिन हम बातचीत जारी रखेंगे। 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस स्टॉकहोम सिंड्रोम से ग्रस्त, मोदी सरकार ने अर्थव्यवस्था को बनाया गतिशील: भाजपा



डेविडसन की यह प्रतिक्रिया पूर्व अमेरिकी कूटनीतिज्ञ निक बर्न्स के एक सवाल पर आई। बर्न्स ने भारत-अमेरिका असैन्य परमाणु करार में अहम भूमिका निभाई थी। उन्होंने कहा कि वह भारत को यह स्पष्ट करने की कोशिश कर रहे हैं कि रूसी वायु रक्षा प्रणाली की खरीद उसके लिये लाभदायी नहीं है। उन्होंने कहा कि अमेरिकी उपकरण दुनियाभर में बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप