भारतीय-अमेरिकी Krishna Vavilala एमएलके ग्रांडे परेड स्पेशल अवार्ड से सम्मानित

Krishna Vavilala
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
लंबे समय से ह्यूस्टन में रह रहे और फाउंडेशन ऑफ इंडिया स्टडीज (एफआईएस) के संस्थापक और अध्यक्ष वविलाला (86) ने अतीत में कई एमएलके ग्रैंड परेड का नेतृत्व किया है।

भारतीय मूल के अमेरिकी कृष्ण वविलाला को भारतीय प्रवासियों को अमेरिका की मुख्यधारा से जोड़ने में महत्वपूर्ण योगदान के लिए एमएलके ग्रांडे परेड विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया गया। लंबे समय से ह्यूस्टन में रह रहे और फाउंडेशन ऑफ इंडिया स्टडीज (एफआईएस) के संस्थापक और अध्यक्ष वविलाला (86) ने अतीत में कई एमएलके ग्रैंड परेड का नेतृत्व किया है। इस परेड का उद्देश्य अहिंसा के सिद्धांतों को बढ़ावा देते हुए भारतीय समुदाय को अश्वेत समुदाय के करीब लाना है। गांधी और मार्टिन लूथर किंग जूनियर दोनों अहिंसा के सिद्धांतों में यकीन रखते थे।

नागरिक अधिकार के पैरोकार मार्टिन लूथर किंग जूनियर की याद में परेड का आयोजन किया गया। एमएलके जूनियर परेड फाउंडेशन के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) चार्ल्स स्टैम्प ने रविवार को वविलाला को पुरस्कार के तहत एक ट्रॉफी और एक पट्टिका देकर सम्मानित किया। स्टैम्प ने वविलाला की प्रशंसा की और महात्मा गांधी और मार्टिन लूथर किंग जूनियर दोनों के संदेश को फैलाने के लिए उनके समर्पण की सराहना की, जो अलग-अलग महाद्वीपों से होने के बावजूद एक ही दृष्टि साझा करते थे तथा एक ही मार्ग का अनुसरण करते थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़